Sanskrit Important Questions – 1 for CTET, all State TETs, KVS, NVS, DSSSB etc

1= शाल्मली वृक्ष ‘ का वर्णन किस ग्रंथ मे मिलता है? ( रघुवंशम्, किरातार्जुनियम्, शिवराजविजयः, कादम्बरी )
■ कादम्बरी ।
2= पुत्र -प्राप्ति की कामना से राजा दिलीप ने किस ऋषि के आश्रम मे गो -सेवा की थी?
■ वशिष्ठ ।
3= संस्कृत में प्रसिद्ध नाटककार विशाखदत्त की कृति का नाम है? (हितोपदेशः, मुद्राराक्षसः, शिशुपालवधः, मृच्छकटिकः )
■ मुद्राराक्षसः ।
4= मनुस्मृति के अनुसार धर्म के लक्षण है ? ( 8, 10, 5 , 4 )
■ 10
5= ” अनाथपरिपालनं हि धर्मः अस्मद् विधानम् “- सूक्ति का सम्बन्ध है?
( सुभाषित रत्नावली, चन्द्रापीड कथा, नीतिशतकम् , वैराग्य शतकम् )
■ सुभाषित रत्नावली ।
6= अर्जुन के धनुष का नाम है?
(पाञ्चजन्य, गाण्डीव, पाशुपत्, पुष्पधन्वा )
■ गाण्डीव ।
7= ‘ क्रीडनम् ‘ शब्द का अभिप्राय है?
■ खिलौना ।
8= ” आश्रमे वटाश्वत्थनिम्बाशोकाम्राणलक — वृक्षाः आसन् “वाक्य में उल्लिखित वृक्षों की संख्या है?
■ पाँच ।
9= विजातीय पद का चयन कीजिए –(लूता, एला , लवड़्म् , मधुरिका )
■ लवड़्म् ।
10= ‘ चतुस्त्रिशत् ‘ संख्या है?
■ 34
11= ‘आभ्यान्तर प्रयत्न ‘ के प्रकार है?
■ चार ।
12= ‘ उपेन्द्र ‘ पद का सन्धि — विच्छेद है?
■ उप + इन्द्रः ।
13= सकार का शकार से योग होने पर क्या परिवर्तन होता है?
■ सकार का शकार हो जाता है I
14= ‘ भूतपूर्वः ‘ — इस समस्त पद का विग्रह होगा?
■ पूर्वभूते ।
15= ‘ हरये रोचते भक्तिः ‘ — वाक्य में ‘ हरये ‘ पद में विभक्ति है?
■ तृतीया ।
16= ‘ परिमाण मात्र ‘ में कौन सी विभक्ति होती है?
■ द्वितीया ।
17= ‘” व्यायामेन ‘ शरीरं स्वस्थं°°°°°°°°°°°°°°°°°°°
भवति ।'”– वाक्य में रेखांकित पद में प्रयुक्त कारक है?
■ करण कारक ।
18= ” नवपलाशपलाशवनं – – – – ” में प्रयुक्त अलंकार है,?
■ यमक अलंकार ।
19= ‘ तस्मै ‘ शब्द का विभक्ति एवं वचन है?
■ चतुर्थी एकवचन ।
20= ‘ अकथितं च ‘ सूत्र के अन्तर्गत कितनी द्विकर्मक धातुएँ है?
■ 16
21= ” सम्प्रति वायु –प्रदूषणस्य दूरीकरणाय नगरे उद्यानम् आवश्यकम् ।” — वाक्य में ‘अव्यय पद ‘ है?
( दूरीकरणाय, नगरे, आवश्यकम्, सम्प्रति )
■ सम्प्रति ।
22= ‘”जानीहि ” ज्ञा धातु का रूप होता है?
■ लड़्लकार प्रथम पुरुष एकवचन ।
23= क्रिया में वर्तमानकालिक निरन्तरता द्योतित करने के लिए प्रयुक्त होने वाला प्रत्यय है?
( क्त्, क्त्वा, तुमुन्, शतृ )
■ क्त ।
24= ” मया रामः दृश्यते।” — वाक्य का वाच्य परिवर्तन करने पर वाक्य होगा?
■ अहं रामं पश्यामि ।
25= ” मै मुख से बोलता हूँ ।” — वाक्य का अनुवाद होगा?
■ अहं मुखेन वदामि ।
26= संस्कृत -काव्य शिक्षण का उद्देश्य नही है?
1* रसानुभूति कराना । 2* गति, यति, लय एवं भाव के अनुसार श्लोक पाठ करने की क्षमता का विकास करना ।
3* शब्द भण्डार में वृद्धि करना ।
4* कविता के उदात्त भावों का विकास करना ।
■ शब्द भंडार में वृद्धि करना ।
27= गद्य शिक्षण में किसका विशेष महत्व नही है?
( 1* अनुकरण वाचन का । 2* विचार विश्लेषण का । 3* काठिन्य निवारण का ।4* लययुक्त सस्वर वाचन का)
■ लययुक्त सस्वर वाचन का ।
28= “श्लोक के एक-एक पद का अर्थ करते जाना,”— किस प्रणाली का द्योतक है?
■ व्याख्या प्रणाली का ।
29= संस्कृत भाषा में कहानी शिक्षण करते समय शिक्षक को बचना चाहिए?
■ पुस्तक प्रयोग से ।
30= ” फ्लैश कार्ड ” शिक्षण अधिगम सामग्री है?
( दृश्य –श्रव्य, श्रव्य, दृश्य, इनमें से कोई नहीं )
■ दृश्य

By admin

8 thoughts on “Sanskrit Grammar Important Questions – 1 for CTET, all State TETs, KVS, NVS, DSSSB etc”
  1. Thanks sir👌👌👌👌👌💐💐💐💐💐💐💐💐💐💐💐💐💐💐💐💐💐💐💐💐💐💐💐💐💐💐💐💐💐💐💐💐💐💐💐💐💐💐💐💐💐💐💐💐💐💐💐💐💐💐💐💐💐💐💐💐💐💐💐💐💐💐💐💐💐

  2. प्रयत्न दो प्रकार के होते है 1 आभ्यन्तर प्रयत्न 2 बाह्य प्रयत्न
    आभ्यन्तर के पांच भेद होते है 1स्पृष्ट 2ईषत्पृष्ट 3ईषव्दिवृत4विवृत 5संवृत
    स्पृष्ट को स्पर्श संज्ञक वर्ण भी बोला जाता है जिसके अंदर क से लेकर म तक के वर्ण आते है
    ईषत्स्पृष्ट को अंतस्थ वर्ण बोला जाता है इसके अंदर 4 वर्ण आते है य व र ल
    ईषव्दिवृत को ऊष्म संज्ञक वर्ण बोला जाता है इसके अंदर 4 वर्ण आते है श ष स ह
    विवृत को स्वर बोला जाता है इसके अंदर 9 वर्ण बोले जाते है अ इ उ ऋ ऌ ए ओ ऐ औ
    संवृत को हृस्व वर्ण बोला जाता है ऽ

  3. thanks a lot sir👍👍🙏💐💐💐💐💐💐💐💐💐💐💐💐💐💐💐👌👌👌👌💐💐💐💐💐💐

  4. very very nice Sr ji….🙏🙏👌👌👌👌👌👌👌👌👌👌👌👌👌👌👌👌👌👌👌👌👌👌👍👍👍👍👍👍👍👍👍👍👍👍👍👍👍👍👍👍👌 thank u Sr ji

  5. very very nice Sr ji….🙏🙏👌👌👌👌👌👌👌👌👌👌👌👌👌👌👌👌👌👌👌👌👌👌👍👍👍👍👍👍👍👍👍👍👍👍👍👍👍👍👍👍👌 thank u Sr ji।

Leave a Reply

Your email address will not be published.