✍🏻Notes By-Vaishali Mishra
🔆बुद्धि लब्धी🔆
▪️1879 में विलियम वुंट ने जर्मनी के लिपजिगं शहर में मानसिक परीक्षण के लिए प्रयोगशाला बनाई
▪️1905 में अल्फ्रेड बिने एवं साइमन ने अपनी एक अवधारणा विकसित की ।
इसमें इन्होंने कई प्रश्न तैयार किए और उन प्रश्नों को बच्चो पर आजमाया इसमें बच्चो से प्रश्न पूछेंगे बच्चे उस प्रश्न का अपने आधार पर ज़बाब देंगे।

  • यदि बच्चो को उनकी उम्र के अनुसार प्रश्न पूछे गए और तब बच्चो ने उनके सही ज़बाब दिए …✓तब वे बच्चे सामान्य बुद्धि में वाले बोले गए
  • यदि बच्चो को उनकी उम्र के अनुसार से प्रश्न पूछे गए और बच्चे उन प्रश्नों का जबाव नहीं दे पाए…✓तो वह बच्चे निम्न बुद्धि वाले बोले गए।
  • यदि बच्चो को उनकी उम्र के अनुसार से अधिक उम्र वाले बच्चो के अनुसार प्रश्न पूछे गए तब उन बच्चो ने सही सही जबाव दिए…✓तब उन्हें उच्च या श्रेष्ठ बुद्धि वाले बच्चे बोला गया।

1905 में बिने व साइमन ने प्रश्नों की संख्या 30 रखी यह प्रश्न 3 से 14 वर्ष के उपयुक्त बच्चो के लिए दिए।
इसे शाब्दिक या व्यक्तिगत बुद्धि परीक्षण या बिने व साइमन बुद्धि परीक्षण कहा गया।
▪️1912 में स्टर्न द्वारा बुद्धि लब्धि शब्द का सर्वप्रथम प्रयोग किया गया
इन्होंने बुद्धि लव्धी पर कई मानसिक परीक्षण किए जिसमे उन्होंने कई तर्क लगाए कई प्रयास किए लेकिन उन्हें सफलता प्राप्त नहीं हुई क्योंकि उनके परीक्षण के अंतिम परिमाण दशमलव में प्राप्त हुआ या मानसिक और वास्तविक आयु शुद्घ प्राप्त नहीं हुई।
▪️स्टर्न की असफलता के बाद टर्मन ने 1916 में मानसिक आयु के आधार पर बुद्धि लव्धि परीक्षण सूत्र दिया ।
टर्मन का मानना था कि मानसिक आयु और बुद्धि लब्धि दोनों अलग अलग है।
इन्होने मानसिक आयु को ज्ञात किया और इस आधार पर एक सूत्र प्रस्तुत किया आयु =
मानसिक आयु(MA)
———————– * 100%
वास्तविक आयु(CA)
बाद में इन्होने बुद्धि लब्धी को दिया।उन्होंने अपने परीक्षण में शुद्धता के लिए कई रूपांतरण किए ।

🔅~1911 में बिने व साइमन नेप्रश्नों की संख्या 30 को बढ़ाकर 54 कर दी

~ 1916 में इन प्रश्नों की संख्या टरमन द्वारा 90 कर दी गई।
90 प्रश्नों में से 19 प्रश्न – बिने के ही थे।
शेष 71 प्रश्न को टरमन द्वारा ही दिया गया।
~टर्मन के इस संशोधन में मेरिल ने साथ दिया फिर इस बुद्धि परीक्षण का नाम उन्होंने न्यू स्टर्नफोर्ड बिने परीक्षण दिया

▪️इसके बाद सन् 1922 में सी.एच. राइस ने भारत में बिने परीक्षण का भारतीय अनुकूलन करके हिन्दुस्तानी बिने परीक्षण दिया।


Notes By Ashwany Dubey

🌸मानसिक आयु/ बुद्धि परीक्षण 🌸

✍️ 1879 मे विलियम वुन्ट ने जर्मनी के लिपज़िंग शहर मे बुद्धि परीक्षण के लिए प्रयोगशाला का निर्माण किया था ✍️

🏵️शाब्दिक /व्यक्तिगत बुद्धि परीक्षण 🏵️

✍️1905 मे बिने और साइमन ने फ़्रांस मे 30 प्रश्नो के आधार पर बच्चों के लिए मानसिक आयु परीक्षण तैयार किया जिसका नाम बिने – साइमन बुद्धि परीक्षण भी कह लाया! ✍️

1) जो बच्चे अपनी उम्र के अनुसार सही उत्तर दे पाए उनको सामान्य बुद्धि वाला कहा गया!

2)जो बच्चे अपनी उम्र के अधिक स्तर के प्रश्नों का सही उत्तर दे पाये उनको उच्च बुद्धि वाला कहा गया!

3)जो बच्चे अपनी आयु से कम स्तर के प्रश्नों का सही उत्तर दे पाये उनको मंद बुद्धि वाला कहा गया!
🌸इनका ये परीक्षण 30 प्रश्नों के साथ 3-14 वर्ष की आयु के बच्चों के लिए ही सही साबित रहा!

🌸 1911 मे प्रश्नों की संख्या कम पड़ने पर इन प्रश्नों की संख्या 54 कर दी गयी!

✍️ सन् 1912 मे स्टर्न नामक मनोवैग्यानिक ने बुद्धि लब्धि ( Intelligence Quotient) शब्द को इजात किया!
🌸इन्होने बुद्धि लब्धि का अपूर्ण सूत्र दिया जिसमे intelligence quotient का मान दशमलव मे आरहा था!
🌸इनके द्वारा दिया गया सूत्र कुछ इस प्रकार था!

👉IQ=मानसिक आयु /वास्तविक आयु

🌸इन्होने कयी प्रयास किए लेकिन इनको बुद्धि लब्धि का सही मान प्राप्त नहीं हुआ!

✍️Stern Ford Binnet test/ टर्मन परीक्षण ✍️

✍️सन् 1916 मे टर्मन आए! जिन्होने बुद्धि लब्धि का सूत्र दिया! टर्मन खुद एक प्रोफेसर थे जो Stern ford यूनिवर्सिटी मे नियुक्त थे!इन्होने सूत्र कुछ इस प्रकार दिया!

👉IQ=100×मानसिक आयु /वास्तविक आयु

🌸 इनका मानना था कि मानसिक आयु और बुद्धि लब्धि मे भिन्नता है!

🌸टर्मन ने 1916 मे बुद्धि परीक्षण के लिए और कहा जाए तो मानसिक आयु ग्यात करने के लिए 90 प्रश्नों का चुनाव किया जिसमे इन्होने 71 प्रश्न अपनी तरफ से और 19 प्रश्न बिने के परीक्षण से लिए!
🌸 इन्होने अपने इस परीक्षण का नाम Stern Ford – Binnet परीक्षण रखा जो कि Stern Ford University और Binnet परीक्षण की प्रेरणा से इन्होने दिया था ! लेकिन जब इनको लगा कि बिने परीक्षण का योगदान इनके योगदान से कम है तो इन्होने नाम बदल कर टर्मन परीक्षण रख दिया! 🌸
👉टर्मन के इस परीक्षण का प्रचार प्रसार अमेरिका मे गोहार्ड द्वारा किया गया था!
👉जब मैरिल द्वारा टर्मन का समर्थन किया गया तब टर्मन ने इस परीक्षण का नाम न्यू Stern Ford Binnet परीक्षण रख दिया!

🌺भारत मे 1922 मे प्रोफेसर CH Rice ने बिने परीक्षण का भारतीय अनुकूलन कर हिंदुस्तानी बिने परफॉर्मेंस स्केल पॉइंट नाम दिया जिसको हिंदुस्तानी बिने परीक्षण के नाम से भी जाना जाता है!


✍🏻Notes by – puja kumari

🌸मानसिक आयु / बुद्धि परीक्षण🌸
⭐ विलियम वुण्ट जर्मन मनोवैज्ञानिक थे । इसने 1879 में सबसे पहले व्यक्ति के बुध्दि परीक्षण के लिए प्रयोगशाला की स्थापना की।

⭐ बिने साइमन बुद्धि परीक्षण ➖अल्फर्ड बिने और उसके साथी साइमन फ्रांस के मनोवैज्ञानिक थे। 1905 में इन्होंने बच्चे की बुद्धि को मापने के लिए 3 से 14 वर्ष के बालक को रखा। जिसमे हर बच्चे के आयु के अनुसार 30 प्रश्न तैयार किये गए।
👉🏻यदि बच्चा अपनी आयु से अधिक का प्रश्न हल कर देता है, तो बच्चा उच्च बुद्धि / तीव्र बुद्धि को होगा।
👉🏻यदि बच्चा अपने आयु के अनुसार प्रश्न हल करता है,तो वो बच्चा सामान्य बुद्धि का होगा।
👉🏻अगर बच्चा अपने आयु के अनुसार प्रश्न हल नहीं कर पाता है, तो बच्चा निम्न श्रेणी की बुद्धि का होगा।
🔹 1911 में इन्होंने 30 प्रश्न को बढ़ा के 54 प्रश्न तैयार कर दिए।
🔅इन्हें बिने साइमन परीक्षण/शाब्दिक परीक्षण/ व्यक्तिगत बुद्धिपरीक्षण भी कहा जाता है।

विलियम स्टर्न नामक मनोवैज्ञानिक ने सर्वप्रथम बुद्धि मापने के लिए बुद्धिलब्धि (IQ)शब्द का प्रयोग किया।

👉🏻 IQ=MA/CA
यहाँ, MA= Mantel Age
CA= Current Age

👉🏻स्टर्न ने, बुद्धिलब्धि पर कई परीक्षण किए, जिसमे की इनको apropreate answer नही मिला। क्योंकि इसके answer दशमलव में निकल रहा थे। इसलिये इस परीक्षण में असफल हो गए।
👉🏻इन्हें बुद्धिलब्धि का जन्मदाता भी कहा जाता है।

टर्मन इंग्लैंड के मनोवैज्ञानिक थे। 1916 में स्टर्न और बिने साइमन के असफलता के बाद बुद्धि लब्धि के कई दोषो को दूर करके एक नया रूप दिया।
👉🏻इसने प्रश्नो को बढ़ा के 90 प्रश्न तैयार किये। जिसमे से 71 प्रश्न टर्मन के थे और इसमें से बिने साइमन के 54 प्रश्न में से 19 प्रश्न choose कर के लिए थे। (71+19=90)

👉🏻जिसके आधार पर मानसिक आयु ज्ञात किया। और बुद्धिलब्धि का formula सिद्ध किया।
👉🏻 IQ=MA / CA ×100

👉🏻टरमन ने IQ के आधार पर अलग -अलग बुद्धि ज्ञात किये है जो निम्न है➖
👉🏻140 से ऊपर➖प्रतिभाशाली
👉🏻121 – 140 ➖अतिश्रेष्ठ बुद्धि / अतिकुशाग्र बुद्धि
👉🏻111 – 120➖ तीव्र बुद्धि / श्रेष्ठ बुद्धि
🌸👉🏻91–110➖सामान्य बुद्धि 🌸(ma=ca)
👉🏻81 – 90➖ मंद बुद्धि
👉🏻71 – 80➖ निर्बल / क्षीण बुद्धि
👉🏻51 – 70➖ अल्प / मूर्ख बुद्धि
👉🏻26 – 50➖ मूढ़ बुद्धि
👉🏻0 – 25➖ जड़ / महामूर्ख / Idiot

🔷इसे स्टर्नफोर्ड-बिने परीक्षण भी कहा जाता है।

⭐ 1922 में, C. H. RICE ने बिने परीक्षण को भारत लेकर आये थे। इसलिए इसे हिंदुस्तानी बिने परीक्षण भी कहा जाता है।
🔷🔷🔷🔷🔷🔷🔷🔷
🌺🌺🌺 पूजा ✍🏻
🙏🏻🙏🏻Thanku🙏🏻🙏🏻


✍🏻manisha gupta ✍🏻
🌸 बुद्धि लब्धि🌸

बुद्धि लब्धि की शुरुआत जर्मन मनोवैज्ञानिक विलियम वुन्ट (1879)के द्वारा की गई है इन्होंने बुद्धि के मापन के लिए लिपिजंग में एक प्रयोगशाला स्थापित किए।
🌸 शाब्दिक या व्यक्तिगत बुद्धि परीक्षण🌸

इसके पश्चात फ्रांसीसी मनोवैज्ञानिक अल्फ्रेड बिने एवं उनके साथी साइमन ने बुद्धि के मापन के लिए 1905, में व्यक्ति की तर्क शक्ति, सोच ,तथ्यों को समझने की शक्ति, मानसिक प्रक्रिया के द्वारा बुद्धि का मापन किये।

इनके अनुसार बच्चों को कुछ प्रश्न दिए जाएंगे बच्चे के द्वारा दिया गया उत्तर के आधार पर ही बुद्धि का मापन किया जाएगा।
इनके अनुसार बुद्धि को तीन भागों में विभाजित किया गया➖
1️⃣ उच्च बुद्धि➖ जो बच्चे अपनी उम्र के अधिक स्तर के प्रश्नों का उत्तर दे पाते हैं उन्हें उच्च बुद्धि कहा गया।

2️⃣ सामान्य बुद्धि➖ जो बच्चे अपनी उम्र के अनुसार उत्तर दे पाते उनको सामान्य बुद्धि कहा गया।

3️⃣ मंदबुद्धि➖ जो बच्चे अपनी आयु से कम आयु के प्रश्नों का भी उत्तर ना दे पाए उनको मंदबुद्धि कहा गया।

(यह प्रश्न 3 से 14 वर्ष की आयु के बच्चों के लिए उपयुक्त था)
💫 1911 में प्रश्नों की संख्या बढ़ा दी गई💫
🌸 इसके पश्चात सर्वप्रथम 1912, में विलियम स्टर्न के द्वारा बुद्धि के मापन के लिए बुद्धि लब्धि शब्द का प्रयोग किया गया। इनके द्वारा किया गया बुद्धि का मापन सही से नहीं किया जा सका।

➡️IQ =M. A/C. A

🌈 इसके पश्चात जर्मन मनोवैज्ञानिक टरमन ने 1916,मे बुद्धि लब्धि ज्ञात करने की विधि बताएं इनके अनुसार बुद्धि लब्धि को मानसिक आयु को उसकी वास्तविक आयु से भाग करके 100 से गुणा करने पर प्राप्त की जाती है इनके अनुसार बुद्धि लब्धि का सूत्र➖

🍁IQ=M. A/C. A *100🍁

इस परीक्षण को stern ford binnet test भी कहा गया। बाद में इन्होंने नाम बदलकर टर्मन परीक्षण रख दिया ।

टर्मन के अनुसार बुद्धि लब्धि की गणना इस प्रकार से होगी
1️⃣140- above ➖ प्रतिभाशाली बुद्धि (genious)

2️⃣121-140➖ अति श्रेष्ठ बुद्धि(very superior)

3️⃣111-120➖ श्रेष्ठ बुद्धि(superior)

4️⃣91-110➖ सामान्य बुद्धि(average )

5️⃣81-90➖ मंदबुद्धि(dull)

6️⃣71-90➖क्षीण बुद्धि(feeble)

7️⃣51-70➖ मूर्ख बुद्धि(idiot)

8️⃣25-50➖ मूढ़ बुद्धि

9️⃣0-25➖ जड़ या महामूर्ख बुद्धि

🌸इसके पश्चात 1922 ,में सी एच राइस में बिने परीक्षण को भारत लेकर आए जिसे Hindustan binet performance point scale कहां गया।🌸
✨🌈🍁💫🍁🌈✨

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published.