🌈गहन चिंतन( critical thinking) :-🎯

🌾किसी भी उत्तर या निष्कर्ष पाने के लिए संश्लेषण, विश्लेषण, तार्किक कौशल इत्यादि को स्वनिर्देशित रूप से गुणवत्ता के उच्चतम स्तर को पाने के लिए लगाये गए चिंतन गहन चिंतन कहलाते हैं।

💫गहन चिंतन विश्लेषण और तर्क के माध्यम से समस्या समाधान करके सोच के स्तर को बढ़ाया जाता है।

⭐गहन चिंतन के लक्षण ……..

💮(1) तर्क संगतता :~~~~

👉किसी विषय के गुण/अवगुण दोनों पर विचार करते हैं।

👉इसमें निर्णय तर्क संगत हो जाता है।

💫(2) वैज्ञानिक दृष्टिकोण :~

👉एक शिक्षार्थी को विशेष समस्या के कारण और प्रभाव के बीच संबंध विकसित करने में मदद करते हैं।

☘️इसी के परिणामस्वरूप एक शिक्षार्थी वैज्ञानिक दृष्टिकोण होता है।

🌼(3) प्रासंगिकता :~~

👉गहन चिंतन में उपयुक्त विचारधारा का चयन करके छात्रों के तर्क के माध्यम से शिक्षण अधिगम की प्रक्रिया में सबसे अधिक प्रसांगिक विचारों का चयन किया जाता है।

💐गहन चिंतन के लाभ……

🌻(1) बच्चों को संप्रत्यय निर्माण/आवेदन/विचारों का विस्तार करने में मदद करता है।

🌾(2) भाषा कौशल, सोच कौशल बढ़ाती है।

🍂(3) तर्क को समझने और मूल्यांकन करने में मदद मिलती हैं।

🍁(4) मान्यताओं को समझने/मूल्यांकन करने में मदद मिलता है।
🌺(5) सही को स्वीकार/ गलत को अस्वीकार करने में मदद करता हैं।

⚡(6) गहन चिंतन एक शिक्षार्थी को मूर्खतापूर्ण निर्णय लेने से बचाता है।

🌼💐☘️💮🙏Notes by-SRIRAM PANJIYARA 🌈🌸💥🌺🙏

🏵️ गहन चिंतन (critical thinking) 🏵️
👉 किसी भी उत्तर या निष्कर्ष को पाने के लिए, संश्लेषण, विश्लेषण, तार्किक कौशल इत्यादि को निर्देशित रूप से गुणवत्ता की उच्चतम स्तर को पाने के लिए लगाए गए चिंतन गहन चिंतन कहलाते हैं।
👉 गहन चिंतन में विश्लेषण और तर्क के माध्यम से समस्या समाधान करके सोच के स्तर को बढ़ाया जाता है।
🌸 गहन चिंतन के लक्षण ➡️
1️⃣ तर्क संगतता:—
👉 किसी विषय के गुण/अवगुण दोनों पर विचार करते हैं।
👉 इससे निर्णय तर्कसंगत हो जाता है।
2️⃣ वैज्ञानिक दृष्टिकोण:—
👉 एक शिक्षार्थी को विशेष समस्या के बारे में कारण और प्रभाव के बीच संबंध विकसित करने में मदद करता है इसी के परिणाम स्वरूप एक शिक्षार्थी का वैज्ञानिक दृष्टिकोण होता है।
3️⃣ प्रासंगिकता (Relevance)
👉 गहन चिंतन में उपयुक्त विचारधारा का चयन करके छात्रों के तर्क के माध्यम से शिक्षण अधिगम की प्रक्रिया में सबसे अधिक प्रासंगिक विचारधारा का चयन किया जाता है।
◾ गहन चिंतन के लाभ:—–
1️⃣ बच्चे को संप्रत्यय निर्माण /आवेदन/ विचारों का विस्तार करने में मदद करता है।
2️⃣ भाषा कौशल,सोच कौशल बढ़ती है।
3️⃣ तर्क को समझने और मूल्यांकन करने में मदद मिलती है।
4️⃣ मान्यताओं को समझने/ मूल्यांकन करने में मदद मिलती है।
5️⃣ सही को स्वीकार गलत को अस्वीकार, करने में मदद मिलती है।
6️⃣ गहन चिंतन एक शिक्षार्थी को मूर्खतापूर्ण निर्णय लेने से बचाता है।
🔹🔸🔹
🏵️🌸🏵️✍️ Notes by (。◕‿◕。)➜Vinay Singh Thakur🏵️🌸🏵️

💞✨ गहन चिंतन (critical thinking)💞✨

जितने भी प्रकार के चिंतन है उन सभी चिंतन का समावेश गहन चिंतन में होता है ।
✨जब हम गहन चिंतन करते हैं गहन चिंतन किसी भी चीज पर पूरी तरह विश्लेषणात्मक किसी चीज को पूरी तरह तैयार करना किसी भी चीज के हर पक्षों को देखना सभी गहन चिंतन में शामिल होते हैं।
✨ चिंतन सोचकर नहीं करते वह ऐसे ही होता है चिंतन के लिए सर्वप्रथम समस्या का होना जरूरी होता है।
✨ किसी भी निष्कर्ष को पाने के लिए संश्लेषण विश्लेषण तार के कौशल इत्यादि को निर्देशित रूप से गुणवत्ता के उच्चतम स्तर को पाने के लिए लगाए गए चिंतन को गहन चिंतन कहते हैं ।
✨गहन चिंतन से सलूशन और तर्क के माध्यम से समस्या समाधान करके सोच के स्तर को बढ़ाया जा सकता है।

💫 गहन चिंतन के लक्षण ➖

1️⃣ तर्क संगतता➖
किसी विषय के गुण अवगुण दोनों पर विचार करते हैं इसमें निर्णय तर्कसंगत होता है।

2️⃣ वैज्ञानिक दृष्टिकोण ➖
एक भी शिक्षार्थी को विशेष समस्या के बारे में कारण और प्रभाव के बीच संबंध विकसित करने में मदद करता है इसी के परिणाम स्वरूप एक विद्यार्थी का वैज्ञानिक दृष्टिकोण होता है।

3️⃣ प्रासंगिकता ➖
गहन चिंतन में उपर्युक्त विचारधारा का चयन कर के छात्रों के तर्क के माध्यम से शिक्षण अधिगम की प्रक्रिया में सबसे अधिक प्रासंगिक विचारधारा का चयन किया जाता है

🌀 गहन चिंतन के लाभ➖

1️⃣ बच्चे को संप्रत्यय ➖
निर्माण आवेदन विचारों का विस्तार करने में मदद करता है।
2️⃣ भाषा कौशल सोच कौशल बढ़ती है।
3️⃣ तर्क को समझने और मूल्यांकन करने में मदद मिलती है ।
4️⃣मान्यताओं को समझने या मूल्यांकन करने में मदद मिलती है ।
5️⃣सही को स्वीकार गलत को अस्वीकार करने में मदद करता है
6️⃣गहन चिंतन एक शिक्षार्थी को मूर्खतापूर्ण निर्णय लेने से बचाता है।

📝 Notes by ➖
✍️ Gudiya Chaudhary

🤔 गहन चिंतन🤔
(Critical thinking)

👉 जितने भी प्रकार के चिंतन है उन सभी चिंतन का समावेश इसमें होता है
👉 हम सब गहन चिंतन करते हैं गहन चिंतन किसी भी चीज पर पूरी तरह विश्लेषणकरना ,किसी चीज को पूरी तरह तैयार करना ,किसी भी चीज के हर पक्षों को देखना यह सब काम चिंतन में आता है
👉 चिंतन सोचकर नहीं करते वह ऐसे ही होता है
👉 किसी भी उत्तर या निष्कर्ष को पाने के लिए संश्लेषण ,विश्लेषण, तार्किक कौशल, इत्यादि को निर्देशित रूप से गुणवत्ता के उच्चतम स्तर को पाने के लिए लगाए गए चिंतन चिंतन कहलाते हैं
👉 गहन चिंतन से सुलेशन और तर्क के माध्यम से समस्या समाधान करके सोच के स्तर को बढ़ाया जाता है

🤔 गहन चिंतन के लक्षण🤔

(1) तर्क संगतता :—
➡️ किसी विषय के गुण अवगुण दोनों पर विचार करते हैं
➡️ इससे निर्णय तर्कसंगत हो जाता है

(2) वैज्ञानिक दृष्टिकोण:—

➡️ एक भी शिक्षार्थी को विशेष समस्या के बारे में कारण और प्रभाव के बीच संबंध विकसित करने में मदद करता है इसी के परिणाम स्वरूप एक शिक्षार्थी का वैज्ञानिक दृष्टिकोण होता है

(3) प्रासंगिकता:—
➡️ गहन चिंतन में उपयुक्त विचारधारा का चयन कर के छात्रों के तर्क के माध्यम से शिक्षण अधिगम की प्रक्रिया में सबसे अधिक प्रसांगिक विचारधारा का चयन किया जाता है

🤔 गहन चिंतन के लाभ🤔

👉1) बच्चे को संप्रत्यय निर्माण ,आवेदन,विचारों का विस्तार करने में मदद करता है
👉2) भाषा कौशल ,सोच कौशल बढ़ती है
👉3) तर्क को समझने और मूल्यांकन करने में मदद मिलती है
👉4) मान्यताओं को समझने या मूल्यांकन करने में मदद मिलता है
👉5) सही को स्वीकार /गलत को अस्वीकार करने में मदद करता है
👉6) गहन चिंतन एक शिक्षार्थी को मूर्खतापूर्ण निर्णय लेने से बचाता है

🦜🦜🦜🦜🦜🦜🦜🦜🦜

Notes by:—sangita bharti✍

🍁🌼💫गहन चिंतन 💫🌼🍁

किसी भी उत्तर या निष्कर्ष को पाने के लिए संश्लेषण, विश्लेषण तार्किक कौशल इत्यादि को स्व निर्देशित रूप से गुणवत्ता के उच्चतम स्तर को पाने के लिए लगाए गए चिंतन, गहन चिंतन कहलाते हैं।
गहन चिंतन में विश्लेषण और तर्क के माध्यम से समस्या समाधान करके सोच के स्तर को बढ़ाया जाता है।

🌿🌹🍁 गहन चिंतन के लक्षण 🍁🌹🌿

🍂 तर्क संगतता ÷ किसी विषय के गुण/अवगुण दोनों पर विचार करते हैं इससे निर्णय तर्क संगत हो जाता है।

🐤🌾 वैज्ञानिक दृष्टिकोण ÷ एक शिक्षार्थी को विशेष समस्या के बारे में कारण और प्रभाव के बीच सम्वन्ध विकसित करने में मदद करता है, इसी के परिणामस्वरूप एक शिक्षार्थी का वैज्ञानिक दृष्टिकोण होता है।

🍃🎃 प्रासंगिकता ÷ गहन चिंतन में उपयुक्त विचार धारा का चयन करके छात्रों के तर्क के माध्यम से शिक्षण अधिगम की प्रक्रिया में सबसे अधिक प्रासंगिक विचार धारा का चयन किया जाता है।

🐥🕊️☃️ गहन चिंतन के लाभ ☃️🕊️🐥

🎃 बच्चें को सम्प्रत्यय निर्माण, आवेदन , विचारों का विस्तार करने में मदद करता है।

🦋 भाषा कौशल,सोच कौशल बढ़ती है।

🐦 तर्क को समझने और मूल्यांकन करने में मदद मिलती है।

🐿️ मान्यताओं को समझने व मूल्यांकन करने में मदद मिलती है।

🌹 सही को स्वीकार तथा गलत को अस्वीकार करने में मदद मिलती है।

🌾 गहन चिंतन एक शिक्षार्थी को मूर्खतापूर्ण निर्णय लेने से बचाता है।

🌻🌻🌻Notes by ÷ Babita yadav 🌻🌻🌻🌸
🥀🥀🥀गहन चिंतन🥀🥀

🌸किसी भी उत्तर या निष्कर्ष को पाने के लिए संश्लेषण ,विश्लेषण,तार्किक आदि को स्व निर्देशित रूप में गुणवत्ता के उच्चतम स्तर को पाने के लिए लगाए गए चिंतन को गहन चिंतन कहते है

गहन चिंतन में विश्लेषण और तर्क के माध्यम से समस्या समाधान करके सोच के स्तर को बताया जाता है

🌸गहन चिंतन के लक्षण ➖

🟣तर्कसंगतता ➖किसी विषय के गुण अवगुण डोनोपर विचार करते है

🟠वैयक्तिक दृष्टिकोण ➖एक शिक्षार्थी को विशेष समस्या के बारे में कारण और प्रभाव के बीच संबंध विकसित करने में मदद करता है इसी के परिणाम स्वरूप शिक्षार्थी का वैज्ञानिक दृष्टकोण होता है

🔵प्रासंगिकता ➖गहन चिंतन करके छात्रों के तर्क के माध्यम से शिक्षण अधिगम की प्रक्रिया में सबसे अधिक प्रासंगिक विचार धारा का चयन किया जाता है

🌸गहन चिंतन के लाभ➖

1️⃣बच्चे को संप्रत्याय निर्माण /आवेदन और विचारो का विस्तार करने में मदद करता है

2️⃣भाषा कैशल और सोच कौशल बढ़ती है

3️⃣तर्क को समझने और मूल्यांकन करने में मदद मिलती है

4️⃣शिक्षार्थी के दैनिक जीवन में मूर्खतापूर्ण निर्णय से बचने में मदद करता है

5️⃣मान्यताओं को समझने और मूल्यांकन करने में मदद मिलती है

6️⃣तर्क पूर्ण निर्णय लेने और गलत को स्वीकार करने में मदद मिलती है

🌸📒Notes by

📝Arti savita

🌱🌱 गहन चिंतन🌱🌱

🌴किसी भी उत्तर या निष्कर्ष को पाने के लिए संश्लेषण विश्लेषण, तार्किक वा आत्मनुभूति के साथ किया गया चिंतन ,गहन चिंतन कहलाता है।

🌴गहन चिंतन में विश्लेषण और तर्क के माध्यम से समस्या समाधान करके सोच के स्तर को बढ़ाया जाता है।

🍀 गहन चिंतन के लक्षण÷

🌴तर्क संगतता ÷किसी विषय के गुण/अवगुण दोनों पर विचार करते है।

🌴 इससे निर्णय भी तर्कसंगत हो जाता है।

🌴वैज्ञानिक दृष्टिकोण एक शिक्षार्थी को विशेष समस्या के बारे में कारण और प्रभाव के बीच संबंध विकसित करने में मदद करता है इसी के परिणाम स्वरूप एक से छाती का वैज्ञानिक दृष्टिकोण होता है।

🌴प्रासंगिकता गहन चिंतन में उपयुक्त विचारधारा का चयन करके छात्रो को तर्क के माध्यम से शिक्षण अधिगम की प्रक्रिया में सबसे अधिक प्रासंगिक विचार धारा का चयन किया जाता है।

🍀 गहन चिंतन के लाभ÷

🌴बच्चों को सम्प्रत्यय (अवधारणा) निर्माण/आवेदन/विचारों का विस्तार करने में मदद करता है।

🌴भाषा कौशल,सोच कौशल,बढ़ता है,(सौम्यता से भरपूर)।

🌴तर्क को समझने और मूल्यांकन करने में मदद् करता है, सही को स्वीकार गलत को अस्वीकार करने में मदद् करता है ।

🌴गहन चिंतन एक शिक्षार्थी को मूर्खता पूर्ण निर्णय लेने से बचाता है।

🌀 धन्यवाद 🌀
✍️✍️लिखित द्वारा – शिखर पाण्डेय ✍️

🌼🌼गहन चिंतन (critical thinking) 🌼🌼
🌼 किसी भी उत्तर या निष्कर्ष को पाने के लिए, संश्लेषण, विश्लेषण, तार्किक कौशल इत्यादि को निर्देशित रूप से गुणवत्ता की उच्चतम स्तर को पाने के लिए लगाए गए चिंतन गहन चिंतन कहलाते हैं।
🌼 गहन चिंतन में विश्लेषण और तर्क के माध्यम से समस्या समाधान करके सोच के स्तर को बढ़ाया जाता है।
🌼 गहन चिंतन के लक्षण ➡

🌼🌼1️.तर्क संगतता:—
🌼 किसी विषय के गुण/अवगुण दोनों पर विचार करते हैं।
🌼 इससे निर्णय तर्कसंगत हो जाता है।

🌼🌼2️वैज्ञानिक दृष्टिकोण:—
🌼 एक शिक्षार्थी को विशेष समस्या के बारे में कारण और प्रभाव के बीच संबंध विकसित करने में मदद करता है इसी के परिणाम स्वरूप एक शिक्षार्थी का वैज्ञानिक दृष्टिकोण होता है।
🌼🌼3️.प्रासंगिकता (Relevance)
🌼 गहन चिंतन में उपयुक्त विचारधारा का चयन करके छात्रों के तर्क के माध्यम से शिक्षण अधिगम की प्रक्रिया में सबसे अधिक प्रासंगिक विचारधारा का चयन किया जाता है।

🌼🌼 गहन चिंतन के लाभ:—–
🌼1️.बच्चे को संप्रत्यय निर्माण /आवेदन/ विचारों का विस्तार करने में मदद करता है।
🌼2️.भाषा कौशल,सोच कौशल बढ़ती है।
🌼3️.तर्क को समझने और मूल्यांकन करने में मदद मिलती है।
🌼4️.मान्यताओं को समझने/ मूल्यांकन करने में मदद मिलती है।
🌼5️.सही को स्वीकार गलत को अस्वीकार, करने में मदद मिलती है।
🌼6️.गहन चिंतन एक शिक्षार्थी को मूर्खतापूर्ण निर्णय लेने से बचाता है।

🌼🌼🌼🌼🌼manjari soni🌼

🔆 गहन चिंतन 🔆

किसी भी उत्तर या निष्कर्ष को पाने के लिए संश्लेषण, विश्लेषण, तार्किक कौशल इत्यादि को स्व निर्देशित रूप से गुणवत्ता के उच्चतम स्तर को पाने के लिए लगाए गए चिंतन गहन चिंतन कहलाते हैं |

गहन चिंतन के द्वारा हम किसी भी समस्या के दोनों पक्षों को देखते हुए उसके बारे में आलोचनात्मक चिंतन करके उस समस्या का समाधान खोज सकते हैं |

गहन चिंतन में विश्लेषण और तर्क के माध्यम से समस्या समाधान करके सोच के स्तर को बढ़ाया जाता है | इसके द्वारा बच्चे की भाषा में व्यापक तथा उसका शब्दकोश भी बढ़ता है |

☀ गहन चिंतन के लक्षण ➖

🎯 तर्क संगतता ➖

किसी भी विशेष मुद्दे पर उस विषय के गुण और अवगुण उसके पक्ष विपक्ष दोनों के बारे में विचार करना उस पर अपना आलोचनात्मक चिंतन लगाना,जिससे निर्णय तर्कसंगत हो जाता है |

🎯 वैज्ञानिक दृष्टिकोण ➖

किसी समस्या के कारण और प्रभाव को देखकर उस पर विचार करना या एक शिक्षार्थी को विशेष समस्या के बारे में उसके कारण और प्रभाव के बीच संबंध विकसित करने में मदद करता है |
इसी के परिणाम स्वरुप एक शिक्षार्थी का वैज्ञानिक दृष्टिकोण होता है किसी भी कार्य को करने के लिए उस पर नए तरीकों का प्रयोग करना कि वह कैसे उचित ढंग से होगा वैज्ञानिक दृष्टिकोण है |

🎯 प्रसांगिकता ➖

सही विचारधारा का चयन करके जो सबसे अधिक प्रसांगिक हो वह हमारी शिक्षण प्रक्रिया में बहुत आवश्यक है |

शिक्षार्थी के लिए उपयुक्त गहन चिंतन में उपयुक्त विचारधारा का चयन करके छात्रों के तर्क के माध्यम से शिक्षण अधिगम प्रक्रिया में सबसे अधिक विचारधारा का चयन किया जाता है |

💫 गहन चिंतन के लाभ ➖

1) बच्चों कके संप्रत्यय निर्माण , आवेदन, और विचारों को विस्तार करने में मदद करता है |

2) गहन चिंतन से भाषा कौशल, सोच कौशल, और शब्दकोश में वृद्धि होती है जिससे समस्या का समाधान करने में आसानी होती है |

3) गहन चिंतन से तर्क को समझने और मूल्यांकन करने में मदद मिलती है |

4) गहन चिंतन के द्वारा मान्यताओं को समझने और उनका मूल्यांकन करने में मदद मिलती है |
गहन चिंतन मान्यता और अपने त्योहारों को समझने में और उसका मूल्यांकन करने में मदद करता है जिससे सामाजिक भावना विकसित होती है |

5) गहन चिंतन से सही को स्वीकार करने और गलत को अस्वीकार करने में मदद मिलती है क्योंकि गलत को स्वीकार करना हानिकारक है और सही को गलत कहना भी हानिकारक है इसकी गहन चिंतन में कोई भूमिका नहीं होती है क्योंकि गहन चिंतन में जो सही है वही सामने होता है या उसका अंतिम निर्णय होता है |

6) गहन चिंतन एक शिक्षार्थी को मूर्खतापूर्ण निर्णय लेने से बचाता है |

नोट्स बाॅय ➖ रश्मि सावले

🌻🌼🍀🌸🌺🌻🌼🍀🌸🌺🌻🌼🍀🌸🌺🌻🌼🍀🌸🌺

गहन चिन्तन (critical thinking)🔥🔥

किसी भी उत्तर या निष्कर्ष को पाने के लिए, संश्लेषण, विश्लेषण, तार्किक कौशल इत्यादि को स्व निर्देशित रुप से गुणवत्ता के उच्च तम स्तर को पाने के लिए लगाए गए चिन्तन को गहन चिन्तन कहते हैं।
गहन चिंतन में विश्लेषण और तर्क के माध्यम से समस्या समाधान करके सोच के स्तर को बढ़ाया जाता है।

गहन चिंतन के लक्षण (characteristics of critical thinking)👉👉

🌟 तर्क संगतता-

इसमें बच्चा किसी विषय वस्तु के गुण और अवगुण दोनों पहलुओं पर विचार करते हैं। इससे निर्णय तर्क संगत हो जाता है।

🌟 वैज्ञानिक दृष्टिकोण-

एक विद्यार्थी को विशेष समस्याओं के कारण और उसके प्रभाव के बीच सम्बन्ध विकसित करने में मदद करता है इसी के परिणाम स्वरूप एक विद्यार्थी का वैज्ञानिक दृष्टिकोण होता है।

🌟 प्रासंगिकता (relevance)-

गहन चिन्तन में उपयुक्त विचार धारा का चयन कर के छात्रों के तर्क के माध्यम से शिक्षण अधिगम की प्रक्रिया में सबसे अधिक प्रासंगिक विचार धारा का चयन किया जाता है।

गहन चिंतन के लाभ 🔥🔥

1. बच्चे के संप्रत्यय निर्माण/ आवेदन/विचारों का विस्तार करने में मदद करता है।

2. इससे भाषा कौशल, सोचा कौशल का विकास होता है।

3. तर्क को समझने और मूल्यांकन करने में मदद मिलती है।

4. मान्यताओं को समझने और मूल्यांकन करने में मदद मिलती है।

5. सही को स्वीकार और ग़लत को अस्वीकार करने में मदद करता है।

6. गहन चिंतन एक शिक्षार्थी को मूर्खतापूर्ण निर्णय लेने से बचाता है।

Notes by “Shreya Rai”🙏🙏

🌺🌺 गहन चिंतन Critical Thinking 🌺🌺

किसी भी उत्तर यह निष्कर्ष को पाने के लिए संश्लेषण , विश्लेषण , तार्किक कौशल इत्यादि के स्वनिर्देशित रूप से गुणवत्ता के उच्चतम स्तर को पाने के लिए लगाया गया चिंतन , गहन चिंतन कहलाता है।

गहन चिंतन में विश्लेषण और तर्क के माध्यम से समस्या समाधान करके सोच के स्तर को बढ़ाया जाता है।

गहन चिंतन अर्थात किसी भी तथ्यों के बारे में विस्तार और गहराई से जानना, विचार करना होता है।

🌺 गहन चिंतन के लक्षण

1. तर्क संगतता :-

इसमें किसी भी विषय के गुण और अवगुण दोनों पर विचार करते हैं।
इससे निर्णय भी तर्क संगत हो जाता है।

2. वैज्ञानिक दृष्टिकोण :-

एक शिक्षार्थी को विशेष समस्या के बारे में कारण और प्रभाव के बीच संबंध विकसित करने में मदद करता है , इसी के परिणामस्वरुप एक शिक्षार्थी का वैज्ञानिक दृष्टिकोण होता है।

3. प्रासंगिकता :-

गहन चिंतन में उपयुक्त विचारधारा का चयन करके छात्रों के तर्क के माध्यम से शिक्षण अधिगम की प्रक्रिया में सबसे अधिक प्रासंगिक विचारधारा का चयन किया जाता है।

🌺 गहन चिंतन के लाभ :-

1. बच्चे को संप्रत्यय निर्माण / आवेदन / विचारों का विस्तार करने में मदद करता है

2. भाषा कौशल , सोच कौशल बढ़ती है।

3. तर्क को समझने और मूल्यांकन करने में मदद मिलती है।

4. मान्यताओं को समझने / मूल्यांकन करने में मदद मिलती है।

5. सही को स्वीकार / गलत को अस्वीकार करने में मदद मिलती है।

6. गहन चिंतन एक शिक्षार्थी को मूर्खतापूर्ण निर्णय लेने से बचाता है।

🌺✒️ Notes by – जूही श्रीवास्तव ✒️🌺

🤔गहन चिंतन के लक्षण🤔

1 तर्क संगतता
2 वैज्ञानिक दृष्टिकोण
3 प्रासंगिकता

तर्क संगतता

इसमें हम किसी विषय के गुण और अवगुण दोनों को देखते हैं

वैज्ञानिक दृष्टिकोण

यह एक शिक्षार्थी को विशेष और प्रमुख समस्या के बारे में कारण और प्रभाव के बीच संबंध विकसित करने में मदद करता है इसी के परिणाम स्वरूप एक शिक्षार्थी का वैज्ञानिक दृष्टिकोण होता है

प्रासंगिकता
गहन चिंतन में उपयुक्त विचार धारा का चयन कर के छात्रों के तर्क के माध्यम से शिक्षण अधिगम की प्रक्रिया में सबसे अधिक प्रासंगिक विचारधारा का चयन किया जाता है

🤔गहन चिंतन के लाभ🤔

1 बच्चे को संप्रत्यय निर्माण आवेदन विचारों का विस्तार करने में मदद करता है

2 भाषा कौशल सोच कौशल बढ़ती है तर्क को समझने और मूल्यांकन करने में मदद मिलती है

3 मान्यताओं को समझने या मूल्यांकन करने में मदद मिलती है

4 सही को स्वीकार गलत को अस्वीकार करने में मदद मिलती हैं

5 गहन चिंतन एक शिक्षार्थी को मूर्खतापूर्ण निर्णय लेने से बचाता है

🙏🙏🙏🙏 sapna sahu 🙏🙏🙏🙏

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published.