By Vandana Shukla

✳️ learning disability✳️
✳️अधिगम विकार✳️

Learning disability अधिगम विकार का पता हमें बॉडी के लेवल पर नहीं चलता है यह विकार माइंड लेवल पर होता है लर्निंग डिसेबिलिटी मानसिक एवं शारीरिक दोनों स्तर पर होती है।

Case 1 🔸 physical जैसे हमने कुछ देखा उसका पिक्चर आंख पर गया और इमेज रेटिना पर ना बन के दूसरी जगह पर बना तो प्रॉपर इमेज नहीं बना, और हमें चित्र सही दिखाई नहीं दिया । इमेज माइंड को संदेश भेजता है माइंड उस संदेश को समझता है image गलत बनेगा तो माइंड उस image/ संदेश को गलत समझेगा।

Case2 🔸 mental – इमेज आया और इमेज एटिना पर बना। सही image बनी माइंड पर ,पर mind उसे प्रॉपर्ली रीड नहीं कर पाता है तो भी संदेश गलत मिलता है माइंड उसकी मोच की प्रॉपर एनालिसिस नहीं कर पाता।

  • सीखने में दिक्कत मस्तिष्क या मानसिक स्तर पर।
  • बॉडी संदेश भेजता है माइंड में माइंड समझकर प्रतिक्रिया देती है। शारीरिक – में बॉडी संदेश ही नहीं भेज पाता माइंड को तो माइंड प्रॉपर एक्शन नहीं करता। मानसिक – में बॉडी तो संदेश भेजती है माइंड को पर mind संदेश को सही से नहीं समझता और उसके अनुसार प्रॉपर एक्शन नहीं करता।

🔅 Book -Supporting students with learning disabilities
( a guide for teacher)

यह book ब्रिटेन के शिक्षा मंत्रालय और ब्रिटिश कोलंबिया द्वारा प्रकाशित हुई।

इस बुक में 10 प्रकार की लर्निंग डिसेबिलिटी के बारे में बताया गया।

1️⃣ Dyslexia पठन संबंधी विकार

2️⃣Dysgraphia लेखन संबंधी विकार

3️⃣ Dyscalculia गणितीय कौशल संबंधी विकार

4️⃣ Dysphasia वाक् संबंधी विकार

5️⃣ Dyspraxia लेखन चित्रण संबंधी विकार (चित्रांकन)

6️⃣Disorthographia वर्तनी संबंधी विकार

7️⃣ Auditory processing disorder श्रवण संबंधी विकार

8️⃣ Visual perception disorder दृश्य प्रत्यक्षण क्षमता संबंधी

9️⃣Sensory integration of processing इंद्री समन्वय क्षमता विकार

🔟Organisational learning disorder संगठनात्मक पठान संबंधी विकार

➡️ मनोवैज्ञानिकों द्वारा दिया गया अधिगम विकार 6 प्रकार के हैं
1️⃣Dyslexia
2️⃣Dyscalculia
3️⃣Dysgraphia
4️⃣ Dyspraxia
5️⃣ADHD(attention deficit hyperactivity disorder)
6️⃣Dysphasia

🌸 Dyslexia
खोज – डिस्लेक्सिया की खोज सन् 1887 में नेत्र रोग विशेषज्ञ रूडोल्फ बर्लिन द्वारा किया गया था
यह ग्रीक भाषा के शब्द डस + लेक्सिस (das +Lexsus)से मिलकर बना है जिसका अर्थ कठिन भाषा difficulty in speech ।

  • इस विकार में पढ़ने में कठिनाई होती है।
    -डिस्लेक्सिया से पीड़ित बच्चों की परेशानी पढ़ाई से संबंधित है जिससे वह बोलने से भी घबराने लगते हैं इन्हें पढ़ने में डर लगता है।
  • लिखित, भाषा दक्षता ,मौखिक सबको प्रभावित करती है।

🔶 लक्षण
1 वर्णमाला अधिगम में कठिनाई।
2 अक्षरों की ध्वनियों को सीखने में कठिनाई ।
3एकाग्रता में कमी
4 स्वर वर्णों का लोप ( पढ़ते समय)
5 दृष्टि या स्मृति संबंधित कठिनाई
6शब्दों को उल्टा करके पढ़ना
7 अक्षरों का क्रम इधर-उधर करके पढ़ना
8अक्षर उल्टे ढंग से दिखते हैं।
9 वाक्यों में शब्दों को आगे पीछे करके पढ़ना ।
10वर्तनी दोष से पीड़ित
11समान उच्चारण वाले ध्वनियों को नहीं पहचान पाना।
12शब्दकोश का अभाव भाषा
13भाषा का अर्थ पूर्ण प्रयोग नहीं कर पाना
14स्मरण शक्ति क्षीण हो जाना
15 अक्षरों को एक-एक करके धीमी गति से पढ़ना।
16 पढ़ते समय शब्द या पंक्ति को छोड़ देना।

🔸कारण
1 तंत्रिका तंत्र से संबंधित विकृति 2वंशानुक्रम के कारण भी हो सकता है

🔸निदान
1 इस विकार से ग्रसित बच्चे के परिवारिक इतिहास का अध्ययन करना चाहिए
2भाषा वर्तनी उच्चारण बौद्धिक योग्यता स्मृति संबंधी परीक्षण किया जाना चाहिए ।
3पठन का अभ्यास कराया जाना चाहिए।

🌸 Dysgraphia
यह भी एक अधिगम असमर्थतता है।यह विकार लेखन संबंधी है इस विकार में बच्चों को दिक्कत का सामना करना पड़ता है जो निम्न प्रकार है
-धीमा
-भद्दा
-त्रुटिपूर्ण
-शीघ्र थकना
-उंगली में दर्द
-वर्तनी संबंधी कठिनाई
-खराब हस्त लेखन
-विचारों को लिपिबद्ध करने में परेशानी

National centre for learning
disabilitism-2006

🔸 लक्षण
1 लेखन संबंधी कार्यों में कठिनाई 2 लाइनों के कभी ऊपर कभी नीचे लिखना
3 शब्दों के बीच अनियमित स्थान छोड़ना
4 अपूर्ण अक्षर या शब्द का लिखना
5 अक्षरों का आकार समझने में कठिनाई
6 पठनीय होने के बाद भी वह हूबहू उतारने में अधिक समय लगाना
7 वर्तनी शुद्ध लिखना
8 अनियमित रूप एवं आकार वाले अक्षर
9 अपठनीय हस्तलेखन
10 कलम पकड़ने का ढंग ठीक नहीं होता है
11वाक्य या शब्द छोड़कर या पुनरावृति करते हैं ।
12 लिखते समय खुद से बातें करता हैं ।
13 लेखन सामग्री पर सही पकड़ ना होना।

🔸निदान
लेखन का अभ्यास कराया जाना चाहिए ।

🌸 Dyscalculia

  • गणितीय कौशल अक्षमता
  • गणितीय योग्यता की कमी
  • गणितीय संक्रिया में समस्या
  • अंक /संख्या का अर्थ समझ में ही ना आने की योग्यता
  • सूत्र सिद्धांत को ना लगा पाना या प्रयोग में असमर्थतता।
  • जोड़ ,घटाव, गुणा, भाग में बहुत समय लगाना या नहीं कर पाना।
  • ऐसे लोगों को लोग सुस्त एवं आलसी बोलते हैं।

🔸 लक्षण

1 नाम और चेहरा पहचानने में कठिनाई होती है।
Text ➡️ image ➡️ video

Video का ज्यादा इंपैक्ट माइंड में ज्यादा दिन तक रहता है

2 अंक गणितीय संक्रिया के अशुद्ध परिणाम निकालना।
3 अंक गणितीय संक्रिया के चिन्हों को समझने में कठिनाई
4 गिनने के लिए उंगलियों का उपयोग करना
5 गणितीय कार्य करने में कठिनाई
6 संख्या को पहचानने में समस्या
7 वित्तीय योजना /बजट बनाने में परेशानी
8 चेक बुक के प्रयोग में कठिनाई 9 गणितीय आकृति को पहचानने में कठिनाई
10 दिशा ज्ञान का अभाव
11 नगद भुगतान में डर
12 बड़ा ,छोटा ,परिधि ,क्षेत्रफल, भार समझने में समस्या ।
13 श्रव्य /दृश्य इंद्रियों से संबंधित कमी ।
14 समय, दूरी, गहराई समझने में समस्या।
15 रुपए ,पैसे, लेने देने परेशानी
16 समय सारणी बनाने में कठिनाई

🔸कारण

  • Mind cortex सही से काम नहीं करता
  • गहन चिंतन क्षमता में परेशानी
  • स्मृती संबंधी परेशानी

🔸उपचार
1अभ्यास
2 वास्तविक जिंदगी से जोड़कर
3 उचित शिक्षण रणनीति
4 गणितीय तथ्यों को याद करने के लिए अतिरिक्त समय
5 वीडियो गेम, फ्लैशकार्ड, कंप्यूटर गेम, शतरंज, लूडो का प्रयोग करना।
6 गणित को सरल बना कर पढ़ाना और आसान विषय बताना।

🌸 Dyspraxia

  • चित्रांकन संबंधी विकार अक्षमता
  • इमेज बनाने में प्रॉब्लम
  • हस्तलेखा में परेशानी
  • लेखन /चित्र दोनों बनाने में परेशानी संबंधी विकार
  • खुद का बनाया हुआ पहचानने समझने में असमर्थ
  • माइंड में किसी वस्तु का प्रतिबिंब नहीं बन पाना।

🌸 ADHD
Attention deficit hyperactivity disorder

(ध्यानाभाव अतिक्रियाशीलता विकृति )
-बच्चे का इंपल्स/ आवेग ,
को नियंत्रित करने में असुविधा।
1- बच्चों में आवेग के नियंत्रण में समस्या आती है
2ध्यान केंद्रित नहीं रहता है।
3 अनुशासनहीनता शिक्षण में बाधा
4 स्नायु तंत्र विकृति
5 संवेगात्मक रूप से स्थिर नहीं रहते हैं
6 प्राथमिक स्तर पर लड़की की तुलना में लड़कों में अधिक पाया जाता है
7 भोजन में कलर /जंक फूड से भी एडीएसडी

🔸 लक्षण
1 कार्य खेल में ध्यान में कमी ।
2 भूलने की समस्या ।
3 हाथ पैर उंगलियों को चलाना।
4 स्वचालित व्यवहार करना ।
5 प्रश्न के समाप्त होने के पहले ही उत्तर दे देना
6 दूसरों की बात सुने बिना बीच में काट देना
7 कार्य करने वाली सामग्री को खो देना
8 निर्देशों का ठीक से पालन नहीं करना
9 अपनी बारी का इंतजार नहीं करना
10अत्यधिक तीव्र वार्तालाप करना
11कक्षा में बार-बार सीट बदलना
12 सदैव बेचैन रहना
13 बाहरी उत्तेजना के शीघ्र प्रभाव
14 कही गई बातों को पूरा नहीं सुनना।

🔸उपाय

1खिड़की और दरवाजे से दूर बैठाया जाए ।
2 कार्य करने के लिए अधिक समय देना चाहिए
3विराम, चिंतन, तब कार्य (stop think and than action).
4 सीधे प्रश्न पूछा जाए
5 अनुपयुक्त व्यवहार पर ध्यान देना
6पुनर्बलन देना
7स्टेलिन – एकाग्रता में वृद्धि करता है , यह भी विकार में प्रभावी नहीं है नहीं देना चाहिए।

🌸 Dysphasia

  • यह ग्रीक भाषा के 2 शब्दों डिस तथा फेसिया से मिलकर बना है।
  • वाक् संबंधी विकार है, बोलने संबंधी।
  • विचारों के अभिव्यक्ति की व्याख्या के समय कठिनाई महसूस करते हैं ।

-बोलने में समस्या आती है।

🔸उपाय
मस्तिष्क को क्षति होने से बचाना चाहिए।

धन्यवाद


✨✨ Notes by :- Neha Kumari ✨✨

🌸🌸अधिगम विकार🌸🌸

🖊️अधिगम विकार,से तात्पर्य उन मानिसक या मनोवैज्ञानिक स्थिति से है जिसमें बच्चे को अधिगम के दौरान कठिनाइयों का सामना करना पड़ता है।
जैसे कि :- बच्चे को सुनने,देखने,स्वास्थ्य संबंधी कठिनाई, बोलने, पढ़ने, लिखने में एवं अन्य इंद्रिय – जनित अस्थाई समस्याएं आते हैं। परंतु, अधिगम में कठिनाई विभिन्न कारणों से उत्पन्न हो सकता है चाहे वह मानसिक स्तर पर हो या शारीरिक स्तर पर दोनों ही अधिगम को प्रभावित करते हैं। इन दोनों कारणों को हम निम्नलिखित तरीके से समझ सकते हैं-

🌟कोई बच्चा शारीरिक रूप से विकलांग है तो उसे सिखने में व्यवधान उत्पन्न होता है जैसे :- गूंगा,बहरा,अंधा,मानसिक मंदता इत्यादि । इसमें बच्चे को होने वाली कठिनाइयों का स्पष्ट पता चलता है और इसका समाधान निकालने का प्रयास करता है। इसे शारीरिक विकलांगता के कारण होने वाली अधिगम विकार कह सकते हैं ।

📚 अधिगम अक्षमता का वर्गीकरण :
🌟अधिगम अक्षमता,को कई प्रकार से विभेदीकृत किया गया है।जिसमें से इसका सबसे प्रमुख विभेदीकरण,कोलंबिया के एवं ब्रिटेन के शिक्षा मंत्रालय द्वारा प्रकाशित पुस्तक Supporting students with learning disabilities & God father teacher’s में दिया गया है।

🌸जो कि निम्नलिखित है :-
1.डिस्लेक्सिया :- पठन विकार
2.डिस्कैलकुलिया :- लेखन विकार
3.डिसग्राफिया :- गणितीय क्षमता संबंधी विकार
4.डिस्प्रेक्सिया :- लेखन/चित्रण संबंधी विकार
5.डिसफेसिया :- वाक् क्षमता संबंधी विकार
6.डिसआर्थोग्राफिया :- वर्तनी संबंधी विकार
7.आॅडिटरी प्रोसेसिंग डिसआर्डर :- श्रवण क्षमता संबंधी विकार
8.विजुअल प्रोसेसिंग डिसआर्डर :- दृश्य प्रत्यक्षण क्षमता संबंधी विकार
9.सेंसरी इंटिग्रेशन और प्रोसेसिंग डिसआर्डर :- इन्द्रिय समन्वय क्षमता संबंधी विकार
10.आर्गेनाइजेशनल लर्निंग डिसआर्डर :- संगठनात्मक पठन संबंधी विकार

📚 मनोवैज्ञानिकों ने अधिगम विकार के 6 मुख्य विकारों का वर्णन किया है जो कि निम्नलिखित है :-

1.डिस्लेक्सिया :- पठन विकार
2.डिस्कैलकुलिया :- लेखन विकार
3.डिसग्राफिया :- गणितीय क्षमता संबंधी विकार
4.डिस्प्रेक्सिया :- लेखन/चित्रण संबंधी विकार
5.डिस्ट्रेक्सिया या
(ADHD – Attention Difect Hyper Activity Disordar) :- (ध्यानाभाव अतिक्रियाशीलता विकृति)
6.डिस्फेसिया :- वाक् क्षमता संबंधी विकार
📚 डिस्लेक्सिया(पठन विकार)

सर्वप्रथम डिस्लेक्सिया की खोज 1887 में हुआ था। इसकी खोज जर्मन नेत्र रोग विशेषज्ञ रूडोल्फ बर्लीन ने किया था। डिस्लेक्सिया शब्द ग्रीक भाषा के दो शब्द डस + लेक्सिस से मिलकर बना है, जिसका शाब्दिक अर्थ कठिन भाषा या पढ़ने में कठिनाई होता है।

📚 डिस्लेक्सिया के लक्षण :-

🌟 वर्णमाला अधिगम में कठिनाई।
🌟 अक्षरों की ध्वनियों को सीखने में कठिनाई।
🌟 एकाग्रता में कमी।
🌟 पढ़ते समय स्वर वर्णों का लोप कर देना।
🌟 दृष्टि या स्मृति संबंधी कठिनाई।
🌟 शब्दों को उल्टा करके पढ़ना।
🌟 अक्षरों का सही क्रम इधर-उधर करके पढ़ना।
🌟अक्षर का उल्टे ढंग से दिखना।
🌟 वाक्यों में शब्दों को आगे पीछे करके पढ़ना।
🌟 वर्तनी दोष से पीड़ित।
🌟 समान उच्चारण वाले ध्वनियों को नहीं पहचान पाना।
🌟 शब्दकोश का अभाव रहना।
🌟भाषा का अर्थ पूर्ण प्रयोग नहीं कर पाना।
🌟 स्मरण शक्ति क्षीण होना।
🌟अक्षरों को एक-एक करके धीमी गति से पढ़ना।
🌟पढ़ते समय सब दया पंक्ति को छोड़ देना।

💫डिस्लेक्सिया के कारण:-
▪️तंत्रिका तंत्र संबंधी विकृति से होता है।
▪️ यह वंशानुक्रम द्वारा भी होता है।

💫डिस्लेक्सिया के उपाय:-
▪️ पारिवारिक इतिहास का अध्ययन करके ।
▪️ भाषा ,वर्तनी ,उच्चारण ,बौद्धिक योग्यता, स्मृति इत्यादि संबंधी क्रियाकलाप करा कर।
▪️पठन अभ्यास कराके।

🖊️📝 डिस्ग्राफिया(लेखन विकार ) 📝🖊️

डिसग्राफिया लेखन क्षमता में विकृति को बताता है। जिसमें वर्तनी संबंधी कठिनाई,खराब लेखन एवं अपने विचारों को सही ढंग से प्रस्तुत ना कर पाना बताया गया है,डिसग्राफिया,से संबंधित यह बात (नेशनल सेंटर फॉर लर्निंग डिसेबिलिटी 2006) में कहा गया है।

📚 डिसग्राफिया के लक्षण:
🖊️ लेखन संबंधी कार्यों में कठिनाई ।
🖊️पंक्तियों में कभी ऊपर कभी नीचे लिखना।
🖊️ शब्दों के बीच अनियमित स्थान छोड़ना ।
🖊️अपूर्ण अक्षर या शब्द लिखना ।
🖊️ अक्षरों का आकार समझने में कठिनाई।
🖊️ पठनीय होने के बाद भी कॉपी करने में अधिक समय लगाना ।
🖊️वर्तनी अशुद्ध लिखना ।
🖊️अनियमित रूप और आकार वाले अक्षर लिखना ।
🖊️आप पठनीय हस्त लेखन, जो पढ़ा ना जा सके।
🖊️ कलम पकड़ने का ढंग ठीक नहीं होना।
🖊️वाक्य या शब्द छोड़कर लिखना या पुनरावृति में लिखना ।
🖊️ लिखते समय खुद से बातें करना।
🖊️लेखन सामग्री पर सही पकड़ न होना।

💫डिसग्राफिया के कारण :-
▪️ तंत्रिका तंत्र संबंधी विकृति होना।
▪️ यह वंशानुक्रम द्वारा होता है।

💫 dysgraphia के उपाय:-
▪️ लेखन का ज्यादा से ज्यादा अभ्यास करा कर।

🔢 डिस्कैल्कुलिया( गणितीय अक्षमता) :-

“डिसकैल्कुलिया”शब्द का प्रयोग गणितीय कौशल क्षमता या गणिती योग्यता में कमी को दर्शाने के लिए किया जाता है इसके अंतर्गत बच्चों को अंकों,संख्या,जोड़, घटाव, गुणा,भाग इत्यादि अंकगणितीय समस्याओं को हल करने में अधिक समय लगता है।अंकगणितीय समस्याओं के समाधान में सूत्रों एवं सिद्धांतों के प्रयोग की अयोग्यता तथा सभी प्रकार के गणितीय अक्षमता शामिल है।

💫 डिस्कैल्कुलिया के लक्षण :-
▪️नाम और चेहरे पहचानने में कठिनाई।
▪️अंकगणितीय संक्रियाओं के अशुद्ध परिणाम निकालना।
▪️अंकगणितीय संक्रियाओं के चिन्हों को समझने में कठिनाई।
▪️गिनने के लिए उंगलियों का प्रयोग।
▪️गणितीय कार्य करने में कठिनाई।
▪️संख्या को पहचानने में समस्या।
▪️वित्तीय योजना/ बजट बनाने में परेशानी।
▪️चेक बुक के प्रयोग में कठिनाई।
▪️गणितीय आकृति को पहचानने में समस्या।
▪️ दिशा ज्ञान का आभाव।
▪️ नगद भुगतान करने में परेशानी एवं डर।
▪️बड़ा, छोटा, परिधि, क्षेत्रफल पहचानने में कठिनाई आना।
▪️श्रवण / दृश्य इंद्रियों से संबंधित कमी।
▪️समय,दुरी,गहराई, ऊंचाई आदि।
▪️रूपये-पैसे के लेन-देन में परेशानी।
▪️समय- सारणी बनाने में कठिनाई।

💫डिस्कैल्कुलिया के कारण:-
▪️ हमारे मस्तिष्क में सेरीब्रम कॉरटेक्स पाया जाता है जोकि यदि सही से काम नहीं कर पाता तो डिस्केलकुलिया होता है।
▪️ गहन चिंतन में अक्षमता या परेशानी होना।
▪️ स्मृति संबंधी परेशानी होना।

💫 डिस्कैलकुलिया के उपाय :-
▪️ गणितीय अभ्यास करना।
▪️ वास्तविक जिंदगी से जोड़कर उदाहरण प्रस्तुत करना।
▪️ उचित शिक्षण रणनीति बनाकर।
▪️ गणितीय तथ्यों को याद करने के लिए अतिरिक्त समय देना।
▪️ वीडियो गेम फ्लैश कार्ड कंप्यूटर गेम शतरंज लूडो आदि का प्रयोग।
▪️गणित को सरल करना और आसान विषय बताना।

📚 डिस्प्रेक्सिया(चित्र/लेखन संबंधी विकार)
▪️ यह चित्रांकन संबंधी अक्षमता होती है।
▪️ हस्तलेख की क्षमता में कठिनाई आना।
▪️ लेखन एवं चित्रकारी दोनों करने में दिक्कत।
▪️ खुद का लिखा हुआ भी नहीं समझ पाना।
▪️ वस्तुओं को मस्तिष्क में प्रतिबिंबित नहीं कर पाते।

🤔😡 डिस्ट्रेक्सिया (ADHD) 😡🤔

😱😱ADHD का पूरा नाम attention deficit hyperactivity disorder है। इसे हिंदी में ध्यानाभाव अतिक्रियाशीलता विकृति कहते हैं।

🌸 परिचय🌸
🌟 बच्चों में आवेग के नियंत्रण में समस्या आती है।
🌟ध्यान केंद्रित नहीं रहता है।
🌟अनुशासनहीनता ,शिक्षण में बाधा।
🌟स्नायु तंत्र नर्व फाइबर या नर्व टिशु में विकृति से उत्पन्न होता है।
🌟बच्चे संवेगात्मक रूप से स्थिर नहीं रहते हैं।
🌟प्राथमिक स्तर पर लड़कियों की अपेक्षा लड़कों में अधिक पाया जाता है।
🌟 भोजन में कलर्ड एवं जंक फूड की वजह से एडीएचडी होता है।
🌟 सामाजिक मनोविज्ञान में कारक होते हैं।

🤡ADHD के लक्षण:-
▪️ कार्य या खेल के ध्यान में कमी।
▪️भूलने की समस्या।
▪️ हाथ ,पैर ,उंगलियों को बेवजह चलाना।
▪️स्वचालित व्यवहार करना।
▪️प्रश्न के समाप्त होने से पहले उत्तर दे देना।
▪️दूसरों की बात सुने बिना बीच में काट देना।
▪️कार्य करने की सामग्री को खो देना।
▪️निर्देशों का ठीक से पालन नहीं करना।
▪️अपनी बारी का इंतजार नहीं करना।
▪️ बहुत तेज अत्यधिक तीव्र वार्तालाप करना।
▪️कक्षा में बार-बार सीट बदलना।
▪️सदैव बेचैन रहना।
▪️बाहरी उत्तेजना से शीघ्र प्रभावित होना।
▪️ कही गई बातों को पूरा नहीं सुनना।

💫 ए डी एच डी के उपाय:-
▪️ खिड़कियों या द्वार से दूर बिठाया जाये।
कार्य करने के लिए अधिक समय देना ।
▪️विराम ,चिंतन, कार्य इस क्रम को अपनाना।
▪️ऐसे बच्चों से सीधे प्रश्न पूछा जाना चाहिए।
▪️अनुपयुक्त व्यवहार पर ध्यान देना।
▪️पुनर्बलन देना।
▪️स्टेलिन ,एकाग्रता में वृद्धि करता है लेकिन यह भी इस विकार में प्रभावी नहीं है।

📚डिस्फेशिया(वाक् क्षमता संबंधी विकार) :-
▪️ यह ग्रीक भाषा के दो शब्दों (dys + phasia ) से मिलकर बना है,जिसका शाब्दिक अर्थ वाक् में अक्षमता है।
▪️ यह वाक् संबंधी विकार है।
▪️ विचारों की अभिव्यक्ति को व्याख्या करने के समय कठिनाई महसूस होना।
▪️ बोलने में समस्या आती है।
▪️ यह मस्तिष्क में क्षति या ब्रेन डैमेज के कारण होता है।

🌟🌟धन्यवाद् 🌟🌟


अधिगम विकार

ब्रिटिश कोलंबिया के द्वारा ब्रिटेन के शिक्षा मंत्रालय के द्वारा एक पुस्तक जारी की थी supporting student with learning disability a guide guide for teacher
इस पुस्तक में अधिगम बिकार 10 प्रकार के बताए गए बाद मे इन्हीं में से इनमें से आगे चलकर 6 बिकार बताए गए गए इनमें से कुछ तो यही थे और कुछ marz करके साथ कर दिया
अधिगम विकार के प्रकार
डिस्लेक्सिया पढ़ने का विकार
1 डिसग्राफिया लेखन संबंधी विकार
2 डिस्केलकुलिया गणितीय कौशल संबंधी विकार
3 डिस्प्लेशिया वाह क्षमता संबंधी विकार
4 डिस्प्रेक्सिया लेखन चित्रण संबंधी विकार
5 ऑडिटरी प्रोसेसिंग डिसऑर्डर सवाना संबंधी बिकार auditory processing disorder
6 दृश्य प्रत्याक्षण क्षमतासंबंधी बिकार visible parption disorder
7 केंद्रीय समन्वय क्षमता संबंधी बिकार sensory integration of of processing disorder

8संगठनात्मक पठन संबंधी बिकार orgnaisation learning disorder
मनोविज्ञान के आधार पर 6 प्रकार के अधिगम अक्षमता बताए गए हैं
1डिस्लेक्सिया
2डिसग्राफिया
3डिस्केलकुलिया
4डिस्प्रेक्सिया
5ए डी एच डी
6डिस्फेशियाअधिगम विकार

ब्रिटिश कोलंबिया के द्वारा ब्रिटेन के शिक्षा मंत्रालय के द्वारा एक पुस्तक जारी की थी supporting student with learning disability a guide guide for teacher
इस पुस्तक में अधिगम बिकार 10 प्रकार के बताए गए बाद मे इन्हीं में से इनमें से आगे चलकर 6 बिकार बताए गए गए इनमें से कुछ तो यही थे और कुछ marz करके साथ कर दिया
अधिगम विकार के प्रकार
डिस्लेक्सिया पढ़ने का विकार
1 डिसग्राफिया लेखन संबंधी विकार
2 डिस्केलकुलिया गणितीय कौशल संबंधी विकार
3 डिस्प्लेशिया वाह क्षमता संबंधी विकार
4 डिस्प्रेक्सिया लेखन चित्रण संबंधी विकार
5 ऑडिटरी प्रोसेसिंग डिसऑर्डर सवाना संबंधी बिकार auditory processing disorder
6 दृश्य प्रत्याक्षण क्षमतासंबंधी बिकार visible parption disorder
7 केंद्रीय समन्वय क्षमता संबंधी बिकार sensory integration of of processing disorder

8संगठनात्मक पठन संबंधी बिकार orgnaisation learning disorder
मनोविज्ञान के आधार पर 6 प्रकार के अधिगम अक्षमता बताए गए हैं
1डिस्लेक्सिया
2डिसग्राफिया
3डिस्केलकुलिया
4डिस्प्रेक्सिया
5ए डी एच डी
6डिस्फेशिया

1887 मैं नेत्र रोग विशेषज्ञ रुडोल्फ बर्लिन
जर्मनी के नेत्र रोग विशेषज्ञ थे
उन्होंने डिस्लेक्सिया के बारे में बताया
डिस्लेक्सिया शब्द दो शब्दों से मिलकर बना है dus+lexis
लेक्सिया यह ग्रीक भाषा का शब्द है इसका शाब्दिक अर्थ होता है कठिन भाषा
1पढ़ने में घबराते हैं
2पढ़ने में डर लगता है
डिस्लेक्सिया के लक्षण
1 वर्णमाला अधिगम में कठिनाई
2अक्षरों की ध्वनियों को सीखने में कठिनाई
3 शब्दों को उल्टा पुल्टा पड़ने के कारण एकाग्रता में कमी आ जाती है लिख नहीं पाता जवाब नहीं दे पाता
4 स्वर वर्णों का लोप पढते समय
5दृष्टि या स्मृति संबंधित कठिनाई
4शब्दों को उल्टा करके पढ़ना
5अक्षरों का क्रम इधर-उधर करके पढ़ना
6अक्षर उल्टे ढंग से देखते हैं 6 को 9 7 ko l l
8वाक्यो में शब्दों को आगे पीछे करता करता पीछे करता करता है
9वर्तनी दोष से पीड़ित
10 समान उच्चारण वाले धनिया को नहीं पहचानता स श ष
11 शब्दकोश का अभाव रहता है
12भाषा का अर्थ पूर्ण प्रयोग नहीं कर पाता है
13 स्मरण शक्ति क्षीण
14अक्षरों को एक-एक करके धीमी गति से पढ़ता है 15पढ़ते समय शब्द या पंक्ति को छोड़ देता है
डिसग्राफिया 💐💐💐 इसे शब्द विन्यास भी कहते हैं
लेखन विकार
1लिखे गए शब्दों को पढ़ने में कठिनाई
2धीमा लिखना
3भद्दा लिखना
4त्रुटिपूर्ण लिखना
5 लिखते समय उंगलियों में दर्द होना
6वर्तनी संबंधी कठिनाई
7विचारों को lipibadh करने में परेशानी National Centre for learning disabilities 2006
लक्षण 💐💐💐
1लेखन संबंधी कार्य में कठिनाई
2लाइनों के ऊपर कभी नीचे लिखना
3शब्दों के बीच अनियमित स्थान छोड़ना
4अपूर्ण अक्षर या शब्द
5अक्षरों का आकार समझने में कठिनाई
6 पठनीय होने के बाद भी देखकर ना लिख पाना 7अनियमित रूप और आकार वाले अक्षर
8वर्तनी अशुद्ध लिखना
9अपठनीय हस्तलेखन
10 कलम पकड़ने का ढंग ठीक नहीं होता
11 वाक्य शब्द छोड़कर पुनरावृति करते हैं
12लिखते समय खुद से बात करना
13 लेखन सामग्री पर सही पकड़ ना होना
कारण 💐💐💐💐
1तंत्रिका तंत्र संबंधी विकृति से होता है
2वंशानुक्रम के द्वारा
निदान 💐💐
1पारिवारिक इतिहास का अध्ययन भाषा वर्तनी उच्चारण बौद्धिक योग्यता स्मृति संबंधी परीक्षण
डिसग्राफिया को लेखन संबंधी विकार के अभ्यास के द्वारा संबंधी विकार के अभ्यास के द्वारा द्वारा ठीक किया जा सकता है
dyscalculia डिस्केलकुलिया 💐💐💐
गणितीय विकार
यदि यह समस्या होती है तो यह हमें एवरी टाइम प्रभावित करता है यह बहुत बड़ा बिकार है
1गणीतिय कौशल अक्षमता
2गणीतिय योग्यता की कमी
3गणितीय संक्रिया में समस्या
4 अंक या संख्या का कोई अर्थ ही समझ ना आए
5सूत्र सिद्धांत नहीं लगा पाते जोड़ घटाव गुणा भाग बहुत समय लगाता है या नहीं कर पाता है तो लोग बोलते हैं सुस्त है आलसी है आलसी है है आलसी है
लक्षण 💐💐💐
1 चेहरा पहचानने में कठिनाई
2नाम और चेहरा पहचानने में कठिनाई
3अंक गणितीय संक्रिया के अशुद्ध परिणाम निकालना
4 ” – “को समझने में कठिनाई
5 गिनने के लिए उंगलियों का प्रयोग
6 गणितीय गणना गणितीय कार्य करने में कठिनाई
7 वित्तीय योजना बजट बनाने में परेशानी है
8 दिशा ज्ञान का अभाव
7 नगद भुगतान में डर लगता है या नहीं कर पाता
8 बड़ा छोटा आकार की परिधि
9श्रवण द्रश्य इंद्रियों से संबंधित कमी
10 चेक बुक के प्रयोग में कठिनाई के प्रयोग में कठिनाई
11समय से जुड़ी हुई समस्याएं दूरी गहराई
12 रूपए पैसे के लेनदेन में परेशानी में परेशानी में परेशानी
13 समय सारणी के बनाने में कठिनाई
14 संख्याको पहचानने में कठिनाई
कारण 💐💐💐💐
1माइंड सही से काम नहीं करता
2 गहन चिंतन क्षमता में परेशानी
3 स्मृति संबंधी परेशानी
उपचार
1अभ्यास करके
2
वास्तविक जिंदगी से जोड़कर
3 उचित शिक्षण रणनीति रणनीति अपनाने से
4 गणीतिय तथ्यों को याद करने के लिए
लिए अतिरिक्त समय प्रदान करना
5 वीडियो गेम फ्लैश कार्ड कंप्यूटर गेम शतरंज प्रयोग कंप्यूटर गेम शतरंज प्रयोग प्रयोग करना
6 गणित को सरल बना कर पढ़ाना और आसान बताना
डिस्प्रेक्सिया💐💐💐
1डिस्प्रेक्सिया एक चित्रांकन संबंधी क्षमता
2 हैंड राइटिंग राइटिंग
3 लेखन चित्रांकन
4खुद का बनाया हुआ नहीं समझ पाना
ADHD
ए डी एच डी डी एच डी डी अटेंशन बीपीसीएल हाइपरएक्टिविटी डिसऑर्डर ध्याना भाव अति क्रियाशीलता विकृति क्रियाशीलता विकृति अति क्रियाशीलता विकृति क्रियाशीलता विकृति
1 बच्चे की आवेग के नियंत्रण में समस्या आती है
2 ध्यान केंद्रित नहीं रहता
3 स्नायु तंत्र {nerve fibers} विकृति
5 संवेगात्मक रूप से स्थिर नहीं रहता है
6प्राथमिक स्तर पर लड़कियों की अपेक्षा लड़कों में अधिक पाया जाता है
7 भोजन में कलर जंक फूड से एडीएसडी होता है सामाजिक मनोविज्ञान एडीएसडी होता है सामाजिक मनोविज्ञान से एडीएसडी होता है सामाजिक मनोविज्ञान एडीएसडी होता है सामाजिक मनोविज्ञान होता है सामाजिक मनोविज्ञान मनोविज्ञान के कारण
लक्षण💐💐💐
1 कार या खेल में ध्यान की कमी
2 भूलने की समस्या
3 हाथ पैर उंगलियों को चलाना
4 स्वचालित व्यवहार करना
5 प्रश्न के समाप्त होने से पहले उत्तर दे देना
6दूसरों की बात सुने बिना बीच में काटना
7कार्य करने वाली सामग्री को खो देना
8 निर्देशों का ठीक से पालन नहीं करना
9अपनी बारी का इंतजार नहीं करना
10अत्यधिक तीव्र वार्तालाप करना
11 कक्षा मेंबार-बार सीट बदलना
12 सदैव बेचैन रहना
13बाहरी उत्तेजना से शीघ्र प्रमाद
14 कही गई बातों को पूरा नहीं सुनना
उपाय
3 खिड़कियों व दरवाजों के द्वार से दूर बैठाना
4 कार्य करने के लिए अधिक समय देना
5 विराम stop,चिंतन think ,कार्य action
6 सीधे प्रश्न पूछे जाने पर ध्यान देना
6 पुनर्बलन देना
7 एटेलिन एकाग्रता में वृद्धि रखता है यह भी विकार में प्रभावी नहीं हैं

dysphagia डिस्फेसिया
डिस + फेशिया से मिलकर बना है
1 यह वाक्य संबंधी विकार है
2 विचारों की अभिव्यक्ति को व्याख्या के समय कठिनाई महसूस करता है
3 बोलने में समस्या आती है
4 मस्तिष्क क्षति ब्रेन डैमेज
Nots by sapna sahu


⭐अधिगम अक्षमता( विकार)⭐

Learning disability⭐

🍃अधिगम विकार मतलब अधिगम में कठिनाई
👉अधिगम में कठिनाई शारीरिक और मानसिक रूप से हो सकती है
🍃शारीरिक और मानसिक रूप से होने वाली अक्षमताऐ का परिणाम तो एक ही होता है किंतु इनका रास्ता अलग अलग होता है।

👉शारीरिक स्तर -दूर दृष्टि दोष निकट दृष्टि दोष और जरा दृष्टि दोष से पीड़ित व्यक्ति की आंख में किसी वस्तु की छवि रेटीना के पहले या बाद में या ऊपर नीचे बनती हैं। इससे रेंटिना छवि भी नहीं भेज पाता है।

👉मानसिक स्तर- मानसिक स्तर पर व्यक्ति के आंख के रेंटिने पर वस्तु की छवि तो पूर्ण रूप से बनती है लेकिन मस्तिष्क तक पहुंचने में गड़बड़ी हो जाती है।

🍃अधिगम विकार का पता शारीरिक स्तर पर नहीं चल पाता है इसका पता मानसिक स्तर पर चल पाता है।

अधिगम अधिकार पर दो शोध प्रकाशित हुए हैं

🤟पहला ब्रिटिश शिक्षा मंत्रालय और ब्रिटिश कोलंबिया द्वारा प्रकाशित किताब
🖐️supporting student with learning disability a guide for teacher 🖐️
में अधिगम विकार के 10 प्रकार बताएं गए हैं
👉डिसलेक्सिया( पठन का विकार)
👉डिसग्राफिया (लेखन संबंधी विकार)
👉डिस्केलकुलिया (गणितीय कौशल संबंधी विकास )
👉डिस्फेसिया (वाक् क्षमता संबंधी विकार)
👉डिस्प्रेक्सिया (लेखन या चित्रांकन संबंधी विकार )
👉डिस् आर्थोग्राफिया (वर्तनी संबंधी विकार )
👉ऑडिटरी प्रोसेसिंग डिसऑर्डर (श्रवण संबंधी विकार)
👉विजुअल परसेप्शन डिसऑर्डर (दृश्य प्रत्यक्षण क्षमता संबंधी विकार)
👉 सेंसरी इंटीग्रेशन प्रोसेसिंग डिसऑर्डर (इंद्रिय समन्वय क्षमता संबंधी विकार )
👉ऑर्गेनाइजेशनल लर्निंग डिसऑर्डर (संगठनात्मक पठन संबंधी विकार)

🤟दूसरा मनोवैज्ञानिकों के द्वारा छह प्रकार बताए गए
👉डिसलेक्सिया
👉 डिस्केलकुलिया
👉डिसग्राफिया
👉 डिस्प्रेक्सिया
👉 ए डी एच डी
👉 डिस्फेसिया

🤟ADHD- attention deficit hyperactivity disorder
ध्यानाभाव अति क्रियाशीलता विकृति

⭐डिसलेक्सिया ⭐
⭐(dyslexia)⭐

सबसे पहले डिसलेक्सिया की खोज 1887 में जर्मन नेत्र विशेषज्ञ रूडोल्फ बर्लिन ने की

डिस्लेक्सिया दो शब्दों से मिलकर बना है डस+लेक्सिस(dush+ lexis) जिसका अर्थ होता है कठिन भाषा या पढ़ने में कठिनाई (difficult in speech)
यह ग्रीक भाषा के शब्द है
इससे प्रभावित बच्चे बोलने से घबराते हैं या पढ़ नहीं पाते हैं पढ़ने से डरते हैं

⭐डिसलेक्सिया के लक्षण-

👉वर्णमाला अधिगम में कठिनाई
👉अक्षरों की ध्वनियो को सीखने में कठिनाई
👉एकाग्रता में कमी
👉पढ़ते समय स्वर वर्णों का लोप कर देता है
👉दृष्टि या स्मृति संबंधित कठिनाई होती हैं
👉शब्दों को उल्टा करके पढ़ता है
👉अक्षरों का क्रम इधर-उधर करके पढ़ना
👉अक्षर उल्टे ढंग से दिखते हैं (6 को 9 समझता है)
👉वाक्यों में शब्दों को आगे पीछे करके पढ़ता है
👉वर्तनी दोष से पीड़ित होता है उच्चारण दोष
👉समान उच्चारण वाली ध्वनियो को नहीं पहचान पाता है।
👉शब्द भंडार या शब्दकोश का अभाव रहता है
👉स्मरण शक्ति क्षीण हो जाती है
👉कोई बालक अक्षरों को एक-एक करके धीमी गति से पढ़ता है
👉पढ़ते समय शब्द या पंक्ति को छोड़ देता है

डिसलेक्सिया के कारण –

👉तंत्रिका तंत्र संबंधी विकृति से होता है
👉 यह वंशानुक्रम द्वारा भी हो सकता है

⭐ डिस्लेक्सिया के उपचार –

👉परिवार के इतिहास का अध्ययन

👉भाषा ,वर्तनी ,उच्चारण ,बौध्दिक योग्यताएं ,स्मृति से संबंधित परीक्षण करना

⭐डिसग्राफिया ⭐
⭐(dysgraphia) ⭐

(लेखन विकार)

👉दिए गए शब्दों को पढ़ने में कठिनाई होती हैं
👉धीमा ,भद्दा ,त्रुटिपूर्ण लिखते हैं
👉लिखते लिखते शीघ्र थक जाता है
👉उंगली में दर्द होता है
🍃यह सब अलग-अलग प्रकार से हो सकता है लेकिन प्रश्न में अधिगम विकार दिया होने पर इसे उपयोग कर सकते हैं।
👉लिखने में वर्तनी संबंधी कठिनाई
👉खराब हस्त लेखन
👉विचारों को लिपिबध्द करने में कठिनाई

🤟डिसलेक्सिया की चर्चा national center for learning disabilitiesm,2006 में की गई।🤟

⭐डिसग्राफिया के लक्षण-

👉 लेखन संबंधी कार्यों में कठिनाई होना
👉लाइनों पर कभी ऊपर कभी नीचे लिखना
👉शब्दों के बीच अनियमित स्थान छोड़ना
👉अपूर्ण अक्षर या शब्द लिखना 👉अक्षरों का आकार समझने में कठिनाई जैसे A का आकार नहीं समझ आना
👉पठनीय होने के बाद भी कॉपी या नकल करने में अधिक समय लगना
👉वर्तनी अशुद्ध लिखना
👉 अक्षरों को अनियमित रूप और आकार में लिखना
👉अपठनीय हस्त लेखन करना
👉कलम पकड़ने का ढंग ठीक नहीं होना
👉लिखते समय खुद से बात करता है
👉 लेखन सामग्री पर सही से नहीं पकड़ होना

उपचार -लेखन का अभ्यास करना

⭐डिस्केलकुलिया⭐
⭐(dyscalculia)⭐

गणितीय विकार
👉यह गणितीय कौशल से जुड़ी हुई अक्षमता है
👉व्यवहारिक जीवन से जुड़ी हर चीज में गणित है👉 गणित योग्यता की कमी
👉गणितीय संक्रिया में समस्या👉 अंक या संख्या का अर्थ समझने की योग्यता में कमी👉 सूत्र सिद्धांत के प्रयोग में अयोग्यता
👉जोड़ घटाव गुणा बाद में बहुत समय लगाना या नहीं कर पाना सुस्त और आलसी होना

⭐ डिस्केलकुलिया के लक्षण-

👉नाम और चेहरा पहचानने में कठिनाई
text 👉 image 👉 video
यह किसी तथ्य को याद रखने का क्रम और स्थायित्व का क्रम है

👉अंक गणितीय संक्रिया के अशुद्ध परिणाम निकालना
👉 अंकगणितीय संक्रिया के चिन्हों को समझने में कठिनाई होना
👉गिनने के लिए अंगुलियों का प्रयोग करना
👉गणितीय कार्य करने में कठिनाई है
👉संख्या को पहचानने में समस्या आती है
👉 वित्तीय योजना या बजट बनाने में परेशानी
👉 चेक बुक के प्रयोग में कठिनाई
👉गणितीय आकृति को पहचानने में समस्या
👉दिशा ज्ञान का अभाव होता है
👉नगद भुगतान में हिसाब में समस्या नगद भुगतान में डर लगता है
👉छोटा ,बड़ा, परिधि ,क्षेत्रफल, आकार ,आकृति का पता लगाने में समस्या
👉श्रव्य और दृश्य इंद्रियों से संबंधित कमी
👉समय दूरी गहराई को पहचानने में समस्या
👉रुपए पैसे के लेनदेन में परेशानी
👉समय सारणी बनाने में कठिनाई

⭐डिस्केलकुलिया के कारण-

👉 माइंड में कोरटेक्स या सेरीबेलम कोरटैक्स सही नहीं होना
👉गहन चिंतन क्षमता में परेशानी आना
👉स्मृति संबंधी समस्या या परेशानी

⭐डिस्केलकुलिया केउपचार-

👉 अभ्यास करके
👉वास्तविक जिंदगी से जोड़कर करने से
👉उचित शिक्षण रणनीति के द्वारा
👉गणितीय तथ्यो को याद करने के लिए अतिरिक्त समय देना
👉फ्लैश कार्ड ,वीडियो गेम, कंप्यूटर गेम, शतरंज ,लूडो का प्रयोग करना
👉गणित को सरल बना कर पढ़ाना और आसान विषय बताना

⭐डिस्प्रेक्सिया (dyspraxia)⭐

चित्रांकन संबंधी अक्षमता

👉इसमें चित्र नहीं बनते हैं
👉 हस्त लेखन में समस्या होती है👉 लेखन और चित्र बनाने में समस्या आती है
👉खुद का लिखा हुआ अभी समझ में नहीं आता है
👉मस्तिष्क में छवि नहीं बन पाती है।

⭐एडी एचडी ( ध्यानाभाव अति क्रियाशीलता विकृति)⭐

⭐A D H D (attention difficult hyperactivity disorder) ⭐

👉बच्चों में आवेग के नियंत्रण में समस्या आती हैं
👉ध्यान केंद्रित नहीं रहता है 👉अनुशासनहीनता शिक्षण में बाधा आती है
👉 स्नायु तंत्र( nerve fibres/tissue) में विकृति होती है
👉संवेगात्मक रूप से स्थिर नहीं रहते
👉 प्राथमिक स्तर पर लड़कियों के अपेक्षा लड़कों में अधिक पाया जाता है
👉भोजन में कलर या जंक फूड से ए डी एच डी होता है
👉सामाजिक मनोविज्ञान के कारण होता है

⭐ए डी एच डी के लक्षण-
👉कार्य या खेल में ध्यान में कमी 👉भूलने की समस्या
👉 हाथ पैर उंगलियों को चलाते रहते हैं
👉स्वचालित व्यवहार करना
👉प्रश्नों के समाप्त होने से पहले उत्तर दे देना
👉दूसरों की बात पूरी सुने बिना ही बीच में काट देना
👉कार्य करने वाली सामग्री को खो देना
👉 निर्देशों का ठीक से पालन नहीं करना
👉अपनी बारी का इंतजार नहीं करना
👉 अत्यधिक तीव्र वार्तालाप करना
👉कक्षा मे बार-बार सीट बदलना
👉सदैव बेचैन रहना
👉 बाहरी उत्तेजना के प्रभाव में शीघ्र पड़ता है
👉कही गए बातों को पूरा नहीं सुनता है

उपाय-
👉खिड़कियों या द्वार से दूर बैठना चाहिए
👉कार्य करने के लिए अधिक समय देना चाहिए
👉 विराम लेकर चिंतन करके कार्य करना
👉सीधे प्रश्न पूछे जाए
👉अनुपयुक्त व्यवहार पर ध्यान देना
👉पुनर्बलन देना
👉 स्टेलिन दवा एकाग्रता में वृद्धि करती है लेकिन यह भी विकार में प्रभावी नहीं होती है

⭐Dysphasia( डिस्फेसिया) ⭐

यह शब्दों dys+ phasia से मिलकर बना है
👉वाक् संबंधी विकार
👉विचारों की अभिव्यक्ति मे व्याख्या के समय कठिनाई महसूस करना
👉बोलने में समस्या आते हैं

कारण – मस्तिक क्षति( brain damage)

Notes by Ravi kushwah


By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published.