Important Theories of Child Development & Pedagogy


=> मनोविज्ञान के जनक = विल्हेम वुण्ट
=> आधुनिक मनोविज्ञान के जनक = विलियम जेम्स
=> प्रकार्यवाद(Functionalism) सम्प्रदाय के जनक = विलियम जेम्स
=> आत्म सम्प्रत्यय(Self concept) की अवधारणा = विलियम जेम्स

=> शिक्षा-मनोविज्ञान के जनक = एडवर्ड थार्नडाइक
=> प्रयास एवं त्रुटि(Trial and error Method) सिद्धांत = थार्नडाइक
=> प्रयत्न एवं भूल का सिद्धांत = थार्नडाइक
=> संयोजनवाद का सिद्धांत (Connectionism) = थार्नडाइक
=> उद्दीपन-अनुक्रिया का सिद्धांत(Stimulus-Response Theory)= थार्नडाइक
=> S-R थ्योरी के जन्मदाता = थार्नडाइक
=> अधिगम का बन्ध सिद्धांत = थार्नडाइक
=> संबंधवाद का सिद्धांत = थार्नडाइक
=> प्रशिक्षण अंतरण का सर्वसम अवयव(Identical Elements) का सिद्धांत = थार्नडाइक
=> बहुखंड या बहुतत्व बुद्धि का सिद्धांत (Multi-factor Theory, मूर्त, अमूर्त और सामाजिक बुद्धि ))= थार्नडाइक

=> बिने-साइमन बुद्धि परीक्षण के प्रतिपादक = अल्फ्रेड बिने एवं साइमन
=> बुद्धि परीक्षणों के जन्मदाता (1905) = अल्फ्रेड बिने
=> एकखंड बुद्धि का सिद्धांत(Unifactor Theory) = अल्फ्रेड बिने

=> दो खंड बुद्धि का सिद्धांत(Two factor Theory)= स्पीयरमैन
=> तीन खंड बुद्धि का सिद्धांत = स्पीयरमैन
=> सामान्य व विशिष्ट तत्वों के सिद्धांत के प्रतिपादक(g-s factor, general-specific) = स्पीयरमैन
=> बुद्धि का द्वय शक्ति का सिद्धांत = स्पीयरमैन

=> त्रि-आयाम बुद्धि का सिद्धांत ( 180 ) =JP गिलफोर्ड
=> बुद्धि संरचना का सिद्धांत(Structure of Intellect) = गिलफोर्ड

=> समूह खंडबुद्धि का सिद्धांत(Group Factor Theory) = थर्स्टन
(7 मानसिक योग्यताओं का समूह
=> युग्म तुलनात्मक निर्णय विधि के प्रतिपादक = थर्स्टन
=> क्रमबद्ध अंतराल विधि के प्रतिपादक = थर्स्टन
=> समदृष्टि अन्तर विधि के प्रतिपादक = थर्स्टन व चेव

=> न्यादर्श या प्रतिदर्श(वर्ग घटक) बुद्धि का सिद्धांत = थॉमसन
=> पदानुक्रमिक(क्रमिक महत्व) बुद्धि का सिद्धांत(Hiearchy) = बर्ट एवं वर्नन
=> तरल-ठोस बुद्धि का सिद्धांत(Fluid and Crystallized Intelligence) = आर. बी.केटल
=> प्रतिकारक (विशेषक) सिद्धांत के प्रतिपादक (16 Personality Factor Theory-16PF)= आर. बी.केटल

=> बुद्धि ‘क’ और बुद्धि ‘ख’ का सिद्धांत = D O हैब
=> बुद्धि इकाई का सिद्धांत = स्टर्न एवं जॉनसन
=> बुद्धि लब्धि(IQ-Intelligence Quotient) ज्ञात करने के सुत्र के प्रतिपादक = विलियम स्टर्न
=> संरचनावाद(Structuralism) सम्प्रदाय के जनक = Wilhelm Maximilian Wundt के शिष्य टिंचनर (Edward B. Titchener)
=> प्रयोगात्मक मनोविज्ञान(Experimental Psychology) के जनक=विल्हेम वुण्ट-1879 में लिपजिग जर्मनी में पहली प्रयोगशाला

=> विकासात्मक मनोविज्ञान(Developmental Psychology) के प्रतिपादक = जीन पियाजे
=> संज्ञानात्मक विकास का सिद्धांत(Cognitive Development Theory-4 Stages) = जीन पियाजे

=> मूल प्रवृत्तियों(Basic Instnicts)के सिद्धांत के जन्मदाता = विलियम मैक्डूगल
=> हार्मिक का सिद्धांन्त = विलियम मैक्डूगल

=> मनोविज्ञान – मन मस्तिष्क का विज्ञान = पोंपोनोजी
=> क्रिया-प्रसूत अनुबंधन(Operant Condioning) का सिद्धांन्त =B F स्किनर
=> सक्रिय अनुबंधन का सिद्धांन्त = B F स्किनर

=> अनुकूलित अनुक्रिया का सिद्धांत = इवान पेट्रोविच पावलव (I P Pavlov)
=> संबंध प्रत्यावर्तन का सिद्धांत = I P पावलव
=> शास्त्रीय अनुबंधन का सिद्धांत(Classical Conditioning)= इवान पेट्रोविच पावलव
=> प्रतिस्थापक का सिद्धांत = इवान पेट्रोविच पावलव

=> प्रबलन (पुनर्बलन) का सिद्धांत = सी. एल. हल
=> व्यवस्थित व्यवहार का सिद्धांत = सी. एल. हल
=> सबलीकरण का सिद्धांत = सी. एल. हल
=> संपोषक का सिद्धांत = सी. एल. हल
=> चालक / अंतर्नोद(प्रणोद(Drive Reduction Theory) का सिद्धांत = सी. एल. हल

=> अधिगम का सूक्ष्म सिद्धान्त = कोहलर ( Sultan Chimpanzee )
=> सूझ या अन्तर्दृष्टि का सिद्धांत(Insight Learning) = कोहलर, वर्दीमर, कोफ्का
=> गेस्टाल्टवाद सम्प्रदाय(Gestalt-German Word-Whole/form)के जनक = कोहलर, वर्दीमर, कोफ्का

=> क्षेत्रीय सिद्धांत (Field Theory)= Kurt लेविन
=> तलरूप कासिद्धांत = Kurt लेविन

=> समूह गतिशीलतासम्प्रत्यय के प्रतिपादक = Kurt लेविन
=> सामीप्य संबंधवाद का सिद्धांत = Kurt गुथरी

=> साईन(चिह्न) का सिद्धांत = टॉलमैन
=> सम्भावना सिद्धांत के प्रतिपादक = टॉलमैन

=> अग्रिम संगठकप्रतिमान के प्रतिपादक = डेविड आसुबेल
=> भाषायीसापेक्षता प्राक्कल्पना के प्रतिपादक = व्हार्फ
=> मनोविज्ञान के व्यवहारवादी(Behaviourism) सम्प्रदाय के जनक = जोहन बी. वाटसन
=> अधिगम या व्यव्हार सिद्धांत के प्रतिपादक = क्लार्क Hull
=> सामाजिक अधिगम(Social Learning) सिद्धांत के प्रतिपादक = अल्बर्ट बण्डूरा
=> पुनरावृत्ति का सिद्धांत = G स्टेनले हॉल
=> अधिगम सोपानकी के प्रतिपादक = गेने (Gagne)
=> मनोसामाजिक विकास का सिद्धांत(Psychosocial Development) = एरिक एरिक्सन

=> प्रोजेक्ट प्रणाली(योजना विधि ) से करके सीखना का सिद्धांत = जान ड्यूवी के student किल्पैट्रिक
=> अधिगम मनोविज्ञान का जनक = हर्मन इबिनघौस (Hermann Ebbinghaus )

=> अधिगम अवस्थाओं के प्रतिपादक = जेरोम ब्रूनर
=> संरचनात्मक अधिगम का सिद्धांत(Constuctivism)= जेरोम ब्रूनर

=> सामान्यीकरण का सिद्धांत(Generalization)= सी. एच.जड
=> शक्ति मनोविज्ञान का जनक = वॉल्फ
=> अधिगम अंतरण का मूल्यों के अभिज्ञान का सिद्धांत= बगले
=> भाषा विकास का सिद्धांत(Language Development) = नोआम चोमस्की

=> माँग-पूर्ति(आवश्यकता-पदानुक्रम-Hiarchy of Needs) का सिद्धांत = अब्राहम मैस्लो (मास्लो)
=> स्व-यथार्थीकरण अभिप्रेरणा का सिद्धांत = अब्राहम मैस्लो (मास्लो)
=> आत्मज्ञान का सिद्धांत = अब्राहम मैस्लो (मास्लो)

=> उपलब्धि-अभिप्रेरणा का सिद्धांत( अचीवमेंट Motivation) = डेविड सी.मेक्लिएंड
=> प्रोत्साहन का सिद्धांत = बोल्स व काफमैन
=> शीलगुण(विशेषक) सिद्धांत के प्रतिपादक(Trait Theory ) = आलपोर्ट

=> व्यक्तित्व मापन का माँग का सिद्धांत = हेनरी मुरे
=> कथानक बोधपरीक्षण विधि के प्रतिपादक = मोर्गन व मुरे
=> प्रासंगिक अन्तर्बोध परीक्षण (TAT-Thematic Apperception Test,) विधि के प्रतिपादक = मोर्गन व मुरे

=> बाल -अन्तर्बोध परीक्षण (C.A.T.-Children Apperception Test) विधि के प्रतिपादक = लियोपोल्ड बैलाक
=> रोर्शा स्याही ध्ब्बा परीक्षण (I.B.T.-Ink Blot Test) विधि के प्रतिपादक = हरमन रोर्शा
=> वाक्य पूर्ति परीक्षण (Sentence Completion Test) विधि के प्रतिपादक = पाईन व टेंडलर

=> व्यवहार परीक्षण विधि के प्रतिपादक = मे एवं हार्टशार्न

=> किंडरगार्टन(बालोद्यान ) विधि के प्रतिपादक = फ्रोबेल
=> खेल प्रणाली के जन्मदाता = फ्रोबेल

=> मनोविश्लेषण(Psychoanalysis) विधि के जन्मदाता = सिगमंड फ्रायड
=> स्वप्न-विश्लेषण(Interpretation of Dreams विधि के प्रतिपादक = सिगमंड फ्रायड

=> प्रोजेक्ट(प्रयोग) विधि के प्रतिपादक = विलियम हेनरी क्लिपेट्रिक (जान ड्यूवी के शिष्य)
=> मापनी भेदक विधि के प्रतिपादक = एडवर्ड्स व क्लिपेट्रिक

=> डाल्टन विधि की प्रतिपादक = मिस हेलेन पार्कहर्स्ट
=> मांटेसरी विधि की प्रतिपादक = मेडम मारिया मांटेसरी
=> डेक्रोली विधि के प्रतिपादक(Teaching in Natural environment)= ओविड डेक्रोली
=> विनेटिका(इकाई) विधि के प्रतिपादक = कार्लटन वाशबर्न
=> ह्यूरिस्टिक(खोज) विधि के प्रतिपादक = एच.ई. आर्मस्ट्रांग
=> समाजमिति(Sociometry) विधि के प्रतिपादक = जे. एल. मोरेनो
=> योग निर्धारण विधि के प्रतिपादक = लिकर्ट
=> स्केलोग्राम विधि के प्रतिपादक = गटमैन
=> विभेद शाब्दिक विधि के प्रतिपादक = आसगुड
=> स्वतंत्र शब्द साहचर्य परीक्षण विधि के प्रतिपादक = फ़्रांसिस गाल्टन
=> स्टेनफोर्ड- बिने स्केल परीक्षण के प्रतिपादक = टरमन
=> पोरटियस भूल-भुलैया परीक्षण के प्रतिपादक = एस.डी. पोरटियस
=> वेश्लर-वेल्यूब बुद्धि परीक्षण के प्रतिपादक = डी.वेश्लवर

=> आर्मी अल्फा परीक्षण के प्रतिपादक = आर्थर एस. ओटिस
=> आर्मी बिटा परीक्षण के प्रतिपादक = आर्थर एस. ओटिस

=> हिन्दुस्तानी बिने क्रिया परीक्षण के प्रतिपादक = सी.एच.राइस
=> प्राथमिक वर्गीकरण परीक्षण के प्रतिपादक = जे. मनरो
=> बाल अपराध विज्ञान का जनक = सीजर लोम्ब्रसो
=> वंश सुत्र के नियम के प्रतिपादक = जोन ग्रैगर मैंडल
=> ब्रेल लिपि के प्रतिपादक = लुई ब्रेल
=> साहचर्य सिद्धांत के प्रतिपादक = एलेक्जेंडर बैन
=> “सीखने के लिएसीखना” सिद्धांत के प्रतिपादक = हर्लो
=> शरीर रचना का सिद्धांत = शैल्डन
=> व्यक्तित्व मापन के जीव सिद्धांत के प्रतिपादक = गोल्डस्टीन
=> मनोविज्ञान के जनक = विल्हेम वुण्ट
=> आधुनिक मनोविज्ञान के जनक = विलियम जेम्स
=> प्रकार्यवाद सम्प्रदाय के जनक = विलियम जेम्स
=> आत्म सम्प्रत्यय की अवधारणा = विलियम जेम्स
=> शिक्षा-मनोविज्ञान के जनक = एडवर्ड थार्नडाइक
=> प्रयास एवं त्रुटि सिद्धांत = थार्नडाइक
=> प्रयत्न एवं भूल का सिद्धांत = थार्नडाइक
=> संयोजनवाद का सिद्धांत = थार्नडाइक
=> उद्दीपन-अनुक्रिया का सिद्धांत = थार्नडाइक
=> S-R थ्योरी के जन्मदाता = थार्नडाइक
=> अधिगम का बन्ध सिद्धांत = थार्नडाइक
=> संबंधवाद का सिद्धांत = थार्नडाइक
=> प्रशिक्षण अंतरण का सर्वसम अवयव का सिद्धांत = थार्नडाइक
=> बहुखंड या बहुतत्व बुद्धि का सिद्धांत = थार्नडाइक
=> बिने-साइमन बुद्धि परीक्षण के प्रतिपादक =अल्फ्रेडबिने एवं साइमन
=> बुद्धि परीक्षणों के जन्मदाता =अल्फ्रेडबिने
=> एकखंड बुद्धि का सिद्धांत =अल्फ्रेडबिने
=> दो खंड बुद्धि का सिद्धांत = स्पीयरमैन
=> तीन खंड बुद्धि का सिद्धांत = स्पीयरमैन
=> सामान्य व विशिष्ट तत्वों के सिद्धांत के प्रतिपादक = स्पीयरमैन
=> बुद्धि का द्वय शक्ति का सिद्धांत = स्पीयरमैन
=> त्रि-आयाम बुद्धि का सिद्धांत ( 150 ) = गिलफोर्ड
=> बुद्धि संरचना का सिद्धांत = गिलफोर्ड
=> समूह खंडबुद्धि का सिद्धांत = थर्स्टन
=> युग्म तुलनात्मक निर्णय विधि के प्रतिपादक = थर्स्टन
=> क्रमबद्ध अंतराल विधि के प्रतिपादक = थर्स्टन
=> समदृष्टि अन्तर विधि के प्रतिपादक = थर्स्टन व चेव
=> न्यादर्श या प्रतिदर्श(वर्ग घटक) बुद्धि का सिद्धांत = थॉमसन
=> पदानुक्रमिक(क्रमिक महत्व) बुद्धि का सिद्धांत = बर्ट एवं वर्नन
=> तरल-ठोस बुद्धि का सिद्धांत = आर. बी.केटल
=> प्रतिकारक (विशेषक) सिद्धांत के प्रतिपादक = आर. बी.केटल
=> बुद्धि ‘क’ और बुद्धि ‘ख’ का सिद्धांत = D O हैब
=> बुद्धि इकाई का सिद्धांत = स्टर्न एवं जॉनसन
=> बुद्धि लब्धि ज्ञात करने के सुत्र के प्रतिपादक = विलियम स्टर्न
=> संरचनावाद साम्प्रदाय के जनक = WilhelmMaximilianWundtके शिष्यटिंचनर(Edward B. Titchener)
=> प्रयोगात्मक मनोविज्ञान के जनक = विल्हेम वुण्ट-1879 में लिपजिग जर्मनी में पहली प्रयोगशाला
=> विकासात्मक मनोविज्ञान के प्रतिपादक = जीन पियाजे
=> संज्ञानात्मक विकास का सिद्धांत = जीन पियाजे
=> मूल प्रवृत्तियों के सिद्धांत के जन्मदाता = विलियम मैक्डूगल
=> हार्मिक का सिद्धांन्त = विलियम मैक्डूगल
=> मनोविज्ञान – मन मस्तिष्क का विज्ञान = पोंपोनोजी
=> क्रिया-प्रसूत अनुबंधन का सिद्धांन्त =B F स्किनर
=> सक्रिय अनुबंधन का सिद्धांन्त = B F स्किनर
=> अनुकूलित अनुक्रिया का सिद्धांत = इवान पेट्रोविच पावलव (I P Pavlov)
=> संबंध प्रत्यावर्तन का सिद्धांत = I P पावलव
=> शास्त्रीय अनुबंधन का सिद्धांत = इवान पेट्रोविच पावलव
=> प्रतिस्थापक का सिद्धांत = इवान पेट्रोविच पावलव
=> प्रबलन (पुनर्बलन) का सिद्धांत = सी. एल. हल
=> व्यवस्थित व्यवहार का सिद्धांत = सी. एल. हल
=> सबलीकरण का सिद्धांत = सी. एल. हल
=> संपोषक का सिद्धांत = सी. एल. हल
=> चालक / अंतर्नोद(प्रणोद) का सिद्धांत = सी. एल. हल
=> अधिगम का सूक्ष्म सिद्धान्त = कोहलर ( Sultan Chimpanzee )
=> सूझ या अन्तर्दृष्टि का सिद्धांत = कोहलर, वर्दीमर, कोफ्का
=> गेस्टाल्टवाद सम्प्रदाय के जनक = कोहलर, वर्दीमर, कोफ्का
=> क्षेत्रीय सिद्धांत =Kurtलेविन
=> तलरूप कासिद्धांत =Kurtलेविन
=> समूह गतिशीलतासम्प्रत्यय के प्रतिपादक =Kurtलेविन
=> सामीप्य संबंधवाद का सिद्धांत =Kurtगुथरी
=> साईन(चिह्न) का सिद्धांत = टॉलमैन
=> सम्भावना सिद्धांत के प्रतिपादक = टॉलमैन
=> अग्रिम संगठकप्रतिमान के प्रतिपादक = डेविड आसुबेल
=> भाषायीसापेक्षता प्राक्कल्पना के प्रतिपादक = व्हार्फ
=> मनोविज्ञान के व्यवहारवादी सम्प्रदाय के जनक = जोहन बी. वाटसन
=> अधिगम या व्यव्हार सिद्धांत के प्रतिपादक = क्लार्क Hull
=> सामाजिक अधिगम सिद्धांत के प्रतिपादक = अल्बर्ट बण्डूरा
=> पुनरावृत्ति का सिद्धांत = G स्टेनले हॉल
=> अधिगम सोपानकी के प्रतिपादक = गेने
=>मनोसामाजिकविकासकासिद्धांत =एरिकएरिक्सन
=> प्रोजेक्ट प्रणाली से करके सीखना का सिद्धांत = जान ड्यूवी
=> अधिगम मनोविज्ञान का जनक =हर्मन इबिनघौस(Hermann Ebbinghaus )
बुद्धि का सिद्धान्त :
1. नवीन परिस्थितियों से चेतन अनुकूलन ही बुद्धि है उक्त परिभाषा है?
रोस ने
2. वुडवर्थ के अनुसार बुद्धि की परिभाषा है?
बुद्धि कार्य करने की एक विधि है|
3. बुद्धि अमूर्त विचारों के बारे में सोचने की योग्यता है – ये कथन किसका है?
टरमन
4. बुद्धि कितने प्रकार की है?
तीन प्रकार : 1- मूर्त 2- अमूर्त 3- सामाजिक ।
5. 1904 में दो कारक सिद्धान्त का प्रतिपादन किसने किया?
स्पीयरमैन ने ।
6. श्रमिक के लिए कितनी बुद्धि – लब्धि पर्याप्त है?
70 से 85 बुद्धि – लब्धि ।
7. बालक का वह गुण जिसमे किसी नवीन वस्तु का निर्माण किया जाता है, वह कहलाती है?
सृजनात्मकता |
8. जालोटा ने परीक्षण दिया है?
सामूहिक बुद्धि परीक्षण ।
9. किस आयु में बालक की मानसिक योग्यता का लगभग पूर्ण विकास हो जाता है?
14वर्ष ।
10. बहुखण्ड सिद्धान्त का प्रतिपादन किसने किया?
थार्नडाइक ने ।
11. बुद्धि – लब्धि को ज्ञात करने का सर्वप्रथम सूत्र किस मनोवैज्ञानिक ने दिया है?
स्टर्न ने ।
12.बुद्धि – लब्धि निकालने का सही फार्मूला क्या है?
मानसिक आयु / वास्तविक आयु ×100
13. थस्टर्न का समूह तत्व सिद्धान्त बुद्धि के कितने प्राथमिक कारकों का वर्णन करता है?
सात कारकों का ।
14. बुद्धि परीक्षण का जनक किसे माना जाता है?
बिने – साइमन ।
15. भारत में सर्वप्रथम बुद्धि परीक्षण का प्रारम्भ कब हुआ?
1922 में ।
16. बुद्धि ओर विकास पूरक है –
एक – दुसरे के ।
17. वर्नन. ने किस सिद्धान्त का प्रतिपादन किया?
क्रमिक महत्व सिद्धान्त का ।
18. प्रतिदर्शन सिद्धान्त के प्रतिपादक है?
थोमसन
19. त्रि – अायाम सिद्धान्त के प्रवर्तक है?
गिलफर्ड
20. बुद्धि परीक्षण को कितने भागो में बाटाँ है?
दो भागों में ।
21. बुद्धि पहचानने तथा सुनने कि शक्ति है, यह मत है?
बिने का ।

By admin

4 thoughts on “Important Theories of Child Development & Pedagogy”

Leave a Reply

Your email address will not be published.