शिक्षा मनोविज्ञान पार्ट -3

मनोविज्ञान शब्द का प्रयोग सबसे पहले रूडोल्फ गोयकल ने किया था
विलियम जेम्स ने दर्शनशास्त्र से मनोविज्ञान को मुक्त कराया था।
अमेरिका में मनोविज्ञान के जनक विलियम जेम्स ही है।
1920 में थार्नडाइक , जुड़, टरमन,फ्रोबेल ने शिक्षा मनोविज्ञान का ओर स्पष्ट रूप पेश किया।
प्रथम शैक्षिक का मनोवैज्ञानिक थार्नडाइक को माना जाता है।
शिक्षा में मनोवैज्ञानिक दृष्टिकोण का सूत्रपात रूसो ने किया।
शिक्षा संस्कृत की शिक्ष् धातु से बना है।

रूसो के अनुसार
बालक एक पुस्तक के समान है जिसका अध्ययन प्रत्येक अध्यापक को करना चाहिए।

क्रो एंड क्रो के अनुसार
शिक्षा मनोविज्ञान जन्म से वृद्धावस्था तक एक व्यक्ति के सीखने के अनुभवों का वर्णन और व्याख्या करना है।

फ्रोबेल के अनुसार
शिक्षा एक प्रक्रिया है जिसके द्वारा एक बालक अपनी जन्मजात शक्तियों का विकास करता है।

Notes by Ravi kushwah

शिक्षा मनोविज्ञान

▪️मनोवैज्ञानिक शब्द का प्रयोग सबसे पहले “रूडोल्फ गोयकल” ने किया था।

▪️”विलियम जेम्स” ने दर्शनशास्त्र से मनोविज्ञान को मुक्त कराया।

▪️अमेरिका में मनोविज्ञान के जनक “विलियम जेम्स” ही है।

▪️शिक्षा मनोविज्ञान मनोविज्ञान की शाखा के अंतर्गत 1900 ई. मे उत्पन्न हुई।

▪️1920 में थोर्नडायक ,जुड़, टर्मन, फ्रोबेल ने शिक्षा मनोविज्ञान का और स्पष्ट रूप पेश किया।

▪️प्रथम शैक्षिक मनोवैज्ञानिक “थोर्नडायक” को माना जाता है।

▪️शिक्षा में मनोवैज्ञानिक दृष्टिकोण का सूत्रपात “रूसो” ने किया।

▪️शिक्षा संस्कृत की “शिक्ष” धातु से बना है।

✨रूसो के अनुसार

बालक एक पुस्तक के समान है जिसका अध्ययन प्रत्येक अध्यापक को करना चाहिए।

✨क्रो एंड क्रो के अनुसार

शिक्षा मनोविज्ञान जन्म से वृद्धावस्था तक एक व्यक्ति के सीखने के अनुभव का वर्णन की ओर व्याख्या करता है।

✨फ्रोबेल के अनुसार

शिक्षा एक प्रक्रिया है जिसके द्वारा एक बालक अपनी जन्मजात शक्तियों का विकास करता है।

✍️
Notes By-‘Vaishali Mishra’

🍀🍀🍀🍀🍀🍀🍀🍀🍀🍀

🔆 शिक्षा मनोविज्ञान(Education Psychology)

💠 सर्वप्रथम शिक्षा मनोविज्ञान शब्द का प्रयोग रूडोल्फ गोयकल ने किया था |

💠 विलियम जेम्स ने दर्शनशास्त्र से मनोविज्ञान को मुक्त कराया था |

💠 अमेरिका में मनोविज्ञान के जनक विलियम जेम्स ही हैं |

💠 शिक्षा मनोविज्ञान, मनोविज्ञान की शाखा के अंतर्गत 1900 ईस्वी में उत्पन्न हुई |

💠 1920 में थार्नडाइक, जुड़, टरमन,,और फ्रोबेल, ने शिक्षा मनोविज्ञान का और स्पष्ट रूप पेश किया |
अर्थात मनोविज्ञान को शिक्षा का अभिन्न अंग बताते हुए उस पर कार्य करते हुए यह पता लगाया कि मनोविज्ञान से सब कुछ प्राप्त किया जा सकता है मनोविज्ञान को शिक्षा से कैसे जोड़ा जा सकता है तब 1920 में उन्होंने मनोविज्ञान की भूमिका को स्पष्ट करते हुए कहा कि शिक्षा में शिक्षा मनोविज्ञान जरूरी जिसको दैनिक जीवन से जोड़ा जा सकता है |

💠 प्रथम शैक्षिक मनोविज्ञान
” थार्नडाइक ” को माना जाता है|

💠 शिक्षा में मनोविज्ञान दृष्टिकोण का सूत्रपात
” रूसो “ने किया था |

💠 शिक्षा “संस्कृत” भाषा की “शिक्ष” धातु से बना है |

💠 रूसो के अनुसार ➖

बालक एक पुस्तक के समान है जिसका अध्ययन प्रत्येक शिक्षक को करना चाहिए |

💠 क्रो और क्रो के अनुसार ➖

शिक्षा मनोविज्ञान जन्म से वृद्धावस्था तक एक व्यक्ति के अनुभवों का वर्णन करता है |

💠 फ्रोबेल के अनुसार ➖

शिक्षा एक प्रक्रिया है जिसके द्वारा एक बालक अपनी जन्म जन्मजात शक्तियों का विकास करता है |

नोट्स बाय➖ रश्मि सावले

🍀🌹🌺🌸🌼🍀🌹🌺🌸🌼🍀🌹🌺🌸🌼🍀🌹🌸🌼

शिक्षा मनोविज्ञान (education psychology)

💫💫💫💫💫💫💫💫

➡️ “मनोविज्ञान” शब्द का सर्वप्रथम प्रयोग रुडोल्फ गोयकल ने किया था।

➡️ विलियम जेम्स ने दर्शनशास्त्र से मनोविज्ञान को मुक्त कराया था।

➡️ अमेरिका में “मनोविज्ञान के जनक” विलियम जेम्स को माना जाता है।

➡️ शिक्षा मनोविज्ञान, मनोविज्ञान की शाखा के अंतर्गत 1900 ई. में उत्पन्न हुई।

➡️ 1920 ई. में थार्नडाइक,जुड़, टर्मन, फ्रॉबेल ने शिक्षा मनोविज्ञान का और स्पष्ट रूप पेश किया।

➡️ प्रथम शैक्षिक मनोवैज्ञानिक Thorndike को माना जाता है।

➡️ शिक्षा में मनोविज्ञान दृष्टिकोण का सूत्रपात रूसो ने किया था।

➡️ शिक्षा संस्कृत की “शिक्ष्” धातु से बना है।

परिभाषाएं 💫💫💫💫💫

रुसो के अनुसार………✍️

“बालक एक पुस्तक के समान है जिसका अध्ययन प्रत्येक अध्यापक को करना चाहिए।”

क्रो व क्रो के अनुसार……..✍️

“शिक्षा मनोविज्ञान जन्म से वृद्धावस्था तक एक व्यक्ति के अनुभवों का वर्णन और व्याख्या करता है।”

फ्रोवेल के अनुसार………✍️

“शिक्षा एक प्रक्रिया है जिसके द्वारा एक बालक अपनी जन्मजात शक्तियों का विकास करता है।”

Notes by Shreya Rai ✍️🙏

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published.