1. वाटसन के अनुसार, “ मनोविज्ञान, व्यवहार का निश्चित या शुद्ध विज्ञान है।”


2. वुडवर्थ के अनुसार, “ मनोविज्ञान, वातावरण के सम्पर्क में होने वाले मानव व्यवहारों का विज्ञान है।”


3. मैक्डूगल के अनुसार, “ मनोविज्ञान, आचरण एवं व्यवहार का यथार्थ विज्ञान है।”


4. क्रो एण्ड क्रो के अनुसार, “ मनोविज्ञान मानव – व्यवहार और मानव सम्बन्धों का अध्ययन है।”


5. बोरिंग के अनुसार, “ मनोविज्ञान मानव प्रकृति का अध्ययन है।”


6. स्किनर के अनुसार, “ मनोविज्ञान, व्यवहार और अनुभव का विज्ञान है।”


7. मन के अनुसार, “आधुनिक मनोविज्ञान का सम्बन्ध व्यवहार की वैज्ञानिक खोज से है।”


8. गैरिसन व अन्य के अनुसार, “ मनोविज्ञान का सम्बन्ध प्रत्यक्ष मानव – व्यवहार से है।”


9. गार्डनर मर्फी के अनुसार, “ मनोविज्ञान वह विज्ञान है, जो जीवित व्यक्तियों का उनके वातावरण के प्रति अनुक्रियाओं का अध्ययन करता है। ”


10• स्टीफन के अनुसार, “शिक्षा मनोविज्ञान शैक्षणिक विकास का क्रमिक अध्ययन है।”


11•शिक्षा के द्वारा मानव व्यवहार में परिवर्तन किया जाता है तथा मानव व्यवहार का अध्ययन ही मनोविज्ञान कहलाता है ।” यह कथन है- ब्राउन का


12. क्रो एण्ड क्रो के अनुसार, “शिक्षा मनोविज्ञान, व्यक्ति के जन्म से लेकर वृद्धावस्था तक के अनुभवों का वर्णन तथा व्याख्या करता है।”


13. स्किनर के अनुसार, “शिक्षा मनोविज्ञान के अन्तर्गत शिक्षा से सम्बन्धित सम्पूर्ण व्यवहार और व्यक्तित्व आ जाता है।”


14. कॉलसनिक के अनुसार, “मनोविज्ञान के सिद्धान्तों व परिणामों का शिक्षा के क्षेत्र में अनुप्रयोग ही शिक्षा मनोविज्ञान कहलाता है।”


15. सारे व टेलफोर्ड के अनुसार, “शिक्षा मनोविज्ञान का मुख्य सम्बन्ध सीखने से है। यह मनोविज्ञान का वह अंग है, जो शिक्षा के मनोवैज्ञानिक पहलुओं की वैज्ञानिक खोज से विशेष रूप से सम्बन्धित है।”


16 “बालक के विकास का अध्ययन हमें यह जानने योग्य बनाता है कि क्या पढ़ायें और कैसे पढाये ।” यह कथन है- किल्फोर्ड का


17- “मानव व्यवहार एवं अनुभव से सम्बंधित निष्कर्षो का शिक्षा के क्षेत्र में प्रयोग शिक्षा मनोविज्ञान कहलाता है ।“ यह कथन है- स्किनर का


18 “शिक्षा मनोविज्ञान शैक्षिक विकास का क्रमिक अध्ययन है ।” यह कथन है- जे.एम. स्टीफन का


19 •शिक्षा मनोविज्ञान शैक्षिक परिस्थितियों के मनोविज्ञान पक्षों का अध्ययन है ।“ यह कथन है- ट्रो का


20•“शिक्षा की प्रकिया पूर्णतया मनोविज्ञान की कृपा पर निर्भर है ।” यह कथन है- बी एन झा का


21•– “शिक्षा मनोविज्ञान शैक्षिक परिवेश में व्यक्ति के विकास का व्यवस्थित अध्ययन है ।” यह कथन है- एस एस चौहान का


22•- शिक्षा मनोविज्ञान की औपचारिक आधारशिला कब रखी गयी- 1889 में


23•– किसके प्रयासों से शिक्षा मनोविज्ञान की औपचारिक आधारशिला सन् 1889 में रखी गयी- स्टेनले हॉल के प्रयासों से


24•- “शिक्षा मनुष्य की क्षमताओं का स्वाभाविक, प्रगतिशील तथा विरोधहीन विकास है” यह परिभाषा है- पेस्टोलोजी की


25•– “शिक्षा मनुष्य की क्षमताओं का विकास है , जिनकी सहायता से वह अपने वातावरण पर नियंत्रण करता हुआ अपनी संभावित उन्नति को प्राप्त करता है।” यह परिभाषा दी- जॉन डीवी ने


26• “शिक्षा मनोविज्ञान का उद्देश्य शैक्षिक परिस्थति के मूल्य एवं कुशलता में योगदान देना है ।” कथन है- स्किनर का


27•– “शिक्षा मनोविज्ञान वह विज्ञान है, जिसमे छात्र, शिक्षण तथा अध्यापन का क्रमबद्ध अध्ययन किया जाता है।” यह परिभाषा है- जॉन एफ.ट्रेवर्स की

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published.